आज वैनायकी श्री गणेश चतुर्थी है आज के दिन गणेश की विधि विधान से पूजा की जाती है और साथ ही व्रत भी रखा जाता है। आज के दिन के कुछ नियम है जो कि करना बहुत ही जरूर होता है। शास्त्रों बताया गया है कि आज के दिन चंद्र दर्शन निषेध है। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार गणेश चतुर्थी के दिन चांद देखने पर झूठे आरोप और कलंक लग जाते हैं।


आज सुबह 10.30 बजे से मध्याह्न 12 बजे तक राहुकाल रहेगा। आज के दिन को कलंक चतुर्थी भी कहा जाता है। आज चांद देखने से  जीवन में कई तरह की दिक्कते आती है। इसी तरह से कई तरह की परेशानियों का भी सामना करना पड़ता है। तो अगर आप आज चांद देख भी लेते हैं तो जमीन से पत्थर उठकर पीछे की ओर फेंक दें।

आज की तीथी समय है- सम्वत्सरी चतुर्थी पक्ष (जैन)। सूर्य दक्षिणायन। सूर्य उत्तर गोल। शरद ऋतु। 10 सितंबर, शुक्रवार, 19 भाद्रपद (सौर) शक 1943, 26 भाद्रपद मास प्रविष्टे 2078, 2 सफर सन हिजरी 1443, भाद्रपद शुक्ल चतुर्थी रात्रि 9.58 बजे तक उपरांत पंचमी, चित्रा नक्षत्र मध्याह्न 12.58 बजे तक तदनंतर स्वाति नक्षत्र, ब्रह्म योग सायं 5.42 बजे तक पश्चात् इंद्र योग, वणिज करण, चंद्रमा तुला राशि में (दिन-रात)।