पौष का महीना चल रहा है और मकर संक्रान्ति से पहले ही शुक्ल पक्ष अष्टमी के दिन मां दुर्गा (Durgashtami) का पर्व होता है। माना जाता है कि इस महीने में मां दुर्गा की उपासना बहुत फलदायी है। इस दिन मां दुर्गा के निमित्त व्रत रखने और उनका विधिवत पूजन करने से समस्त मनोकामनाएं पूर्ण होती हैं। कहा जाता है कि मां दुर्गा (Maa Durga) प्रसन्न होकर अपने भक्तों के सभी संकटों को दूर कर देती हैं।
आज के दिन क्या करें-

-अगर आर्थिक परेशानियों से घिरे हैं तो अष्टमी के दिन मां लक्ष्मी को केसर या हल्दी में रंगे पीले चावल चढ़ाएं।

-अष्टमी (Durgashtami) के दिन मां दुर्गा का स्मरण करें और दुर्गा चालीसा पाठ करें।

-इस दिन अपने घर में प्रवेश करते हुए देवी मां के चरणों के चिह्न बनाएं।

-घर के मुख्य द्वार पर स्वास्तिक बनाएं। ऐसा करने से नकारात्मकता दूर हो जाती हैं।
 
-अष्टमी तिथि पर विधिविधान से मंत्रोचार और हवन करने से मां दुर्गा (Maa Durga) सुख-समृद्धि, मान-सम्मान और आरोग्यता का आशीर्वाद प्रदान करती हैं।

-छात्रों को परीक्षाओं में सफलता पाने के लिए अष्टमी के दिन दुर्गा सप्तशती का पाठ अवश्य करना चाहिए।

-अष्टमी के दिन लाल रंग के वस्त्र धारण कर तांबे के पात्र से सूर्यदेव को अर्ध्य दें। मां गौरी का शृंगार करें।