आज भैया दूज (Bhaiya Dooj) का खास त्योहार है जो कि बहन-भाइयों को समर्पित होगा। आज के दिन हर बहन अपने भाई को टीका कर उसकी लंबी उम्र, अच्छे स्वास्थ्य और तरक्की की कामना करती है। आज शुभ मुहूर्त पर ही अपने भाई की तरक्की के लिए टीका लगाए और ध्यान दें कि डेढ़ घंटे को छोड़कर शनिवार को शाम तक टीका कराने का समय ही समय मिलेगा।

ज्योतिर्विद के अनुसार राहुकाल (Rahukal) की वजह से सुबह नौ बजे से साढ़े दस बजे तक का समय टीका करने के लिए वर्जित है। पौराणिक कथाओं के अनुसार यमुना (Yamuna) के आग्रह करने पर एक बार यमराज (Yamraj) कार्तिक शुक्ल द्वितीया को अपनी बहन यमुना से मिलने गए थे और यमुना ने यमदेव को तिलक (tilak) कर उनसे ये वचन लिया था कि आज के दिन जो भी बहन अपने भाई को तिलक करके उसके मंगल की कामना करेगी, यमराज उसके भाई को अल्पायु, रोग शोक आदि नहीं होने देंगे। और तभी से भाई दूज के पर्व की परंपरा चली आ रही है।

भैयादूज का मूहूर्त:

6 नवंबर शनिवार सुबह 8 बजे से 9 के बीच शुभ चौघड़िया मुहूर्त में भाई को टीका करने का अच्छा समय होगा। दोपहर 12 बजे से शाम 4 बजे के बीच चर लाभ और अमृत के शुभ चौघड़िया मुहूर्त रहेंगे। 12 बजे से शाम 4 बजे के बीच भाई को टीका करने का शुभ मुहूर्त होगा।
इस समय पर न करें टीका:

शनिवार को सुबह 9 से 10:30 बजे के बीच राहुकाल रहेगा, इसलिए इस समय में भाई को टीका न करें। राहुकाल के दौरान टीका नहीं किया जाता।