जीवन में की काम में फेल हो जाना और कोई काम ना हो पाना जीवन में दुर्भाग्य जैसा होता है। बदकिस्मती से  पीछा छुड़ाने के लिए शास्त्रों में कुछ उपाय दिए गए हैं जिससे जीवन में खुशियां और समृद्धि लायी जा सकती है। इसके लिए कुछ उपाय निम्न प्रकार दिए  गए हैं जिससे दुर्भाग्य को सौभाग्य में बदला जा सकता है।  


उपाय-

दुर्भाग्य दूर करने के लिए गुड़ व चना यदि किसी फकीर या संन्यासी को शुक्रवार को दें तो दुर्भाग्य दूर चला जाता है। सौभाग्य की प्राप्ति होती है।

अपने ऊपर से एक रोटी को 31 बार उतार कर चौराहे पर प्रात: रखें। निश्चित दुर्भाग्य दूर होगा। निम्न मंत्र भी कहें
ऊँ दुर्भाग्य नाशिनी दुं दुर्भाय नम:।।

उपाय-

विष्णु प्रिया लक्ष्मी के 12 नाम का प्रात: सूर्योदय में भगवान सूर्य को एक गिलास जल में रौली व चावल मिलाकर अर्घ्य देने से ऋण मुक्ति होती है। निम्न दोहा का जाप करें-
 
त्रैलोक्य पूजिते देवि कमले विष्णु वल्लभे।
यथा त्वमचला कृष्णे तथा भव मयि स्थिरा।।

कमला चंचला लक्ष्मीश्चला भूतिहरिप्रिया।
पद्मा पदमालया संपद रमा श्री पद्मधारिणी।।

द्वादशैतानि नामानि लक्ष्मी संपूज्यय: पठेत्।
स्थिरा लक्ष्मी भवेत तस्य पुत्रादिभि: सह।।