माघ माह में Mahashivratri एक बहुत बड़ा त्योहार माना जाता है। इस पर्व में मां पार्वती और महादेव की खास पूजा की जाती है। इस बार साल 2022 पर महाशिवरात्रि 1 मार्च को मंगलवार, के दिन पड़ रही है। माना जाता है कि जो व्यक्ति महाशिवरात्रि का व्रत रखकर Mahadev और मां गौरी की सच्चे मन से आराधना करते हैं, उनकी हर एक कामना पूरी होती है।
महादेव की पूजा में शामिल करें ये चीजें-
बेलपत्र-

Lord Shiva को बेलपत्र बेहद प्रिय है. हमेशा तीन पत्तियों की बेलपत्र महादेव को अर्पित की जाती है। शास्त्रों में इन तीन पत्तियों को त्रिदेव और महादेव के त्रिनेत्र की संज्ञा दी गई है। बेलपत्र चढ़ाने से महादेव अत्यंत प्रसन्न होते हैं, लेकिन खंडित बेलपत्र कभी न चढ़ाएं।
पीपल-

क्या आपको पता है कि Mahadev को पीपल के पत्ते भी अति प्रिय हैं। अगर आपको बेलपत्र किसी कारण से न मिल पाए तो आप महादेव को पीपल के पत्ते अर्पित कर सकते हैं। वे इससे भी बेहद प्रसन्न होते हैं।
भांग-

आप इस दिन शिवजी को भांग के पत्ते या भांग से बनी ठंडाई भी अर्पित कर सकते हैं। कहा जाता है कि जब शिवजी ने समुद्र मंथन के दौरान विष पान किया था, तब भांग के पत्तों का इस्तेमाल उनकी जलन को शांत करने के लिए किया गया था। इसलिए महादेव को भांग के पत्ते भी अत्यंत प्रिय हैं।
धतूरा-

Mahadev को धतूरा चढ़ाने से भी वे अत्यंत प्रसन्न होते हैं। कहा जाता है कि धतूरा अर्पित करने से महादेव अपने भक्त के हर कष्ट को दूर कर देते हैं। धतूरे में औषधीय गुण होते हैं। विष की जलन शांत करने के लिए महादेव के लिए भांग के पत्तों के साथ धतूरे का भी इस्तेमाल किया गया था। तब से ये प्रभु को अत्यंत प्रिय है।
शमी के पत्ते

अगर आप पर शनि का प्रकोप है, तो आपको Mahashivratri के दिन महादेव को शमी के पत्ते अर्पित करने चाहिए। शिवजी को शमी की पत्तियां बहुत प्रिय होती हैं।

(यह आलेख सिर्फ जनरुचि के लिए हैं, यह आलेख इन सब का दावा नहीं करता है। यह लौकिक मान्यता आधारित है।)