कल का दिन बहुत ही खास है। कल एक साथ तीन खगोलिय घटनाएं होगी, जिससे आसमान में नजारा बहुत ही अद्भूत होने वाला है। कल 4 दिसंबर शनिवार को साल 2021 का अंतिम सूर्य ग्रहण (Surya Grahan) लगने वाला है। खास बात यह है कि ग्रहों की चाल के साथ इस दिन शनि अमावस्या (Shani Amavasya) भी पड़ रही है। सोने पर सुहागा इस दिन सुपर मून भी अपना चमत्कार आसमान में दिखाएगा।
बता दें कि भारत में ग्रहण ना दिखाई देने के कारण सूतक नहीं माना जाएगा। इस कारण से ग्रहण के दिन मंदिर खुले रहेंगे। सूर्य ग्रहण (Surya Grahan) दक्षिणी गोलार्ध के देशों जैसे- ऑस्ट्रेलिया, दक्षिण अफ्रीका, अंटार्कटिका, दक्षिण अटलांटिक महासागर और दक्षिणी हिन्द महासागर से तो भारतीय मानक समय के अनुसार लगभग 10:58 बजे से आरंभ होकर 3:06 बजे तक देखा जा सकेगा।
शनि अमावस्या (Shani Amavasya) शुभ मुहूर्त-

हिन्दी पंचांग के मुताबिक मार्गशीर्ष (अगहन) मास कृष्ण पक्ष की अमावस्या तिथि का आरंभ 03 दिसंबर की शाम 04 बजकर 55 मिनट से होगा। अमावस्या तिथि 04 दिसंबर 2021 को दोपहर 01 बजकर 12 मिनट तक रहेगी।

सूर्य ग्रहण (Shani Amavasya) के दौरान क्या करें-
1. ग्रहण शुरू होने से पहले खुद को शुद्ध कर लें। ग्रहण शुरू होने से पहले स्नान आदि कर लेना शुभ माना जाता है।
2. ग्रहण काल में अपने इष्ट देव या देवी की पूजा अर्चना करना शुभ होता है।
3. सूर्य ग्रहण (Shani Amavasya) में दान करना बेहद शुभ माना जाता है। ग्रहण समाप्त होने के बाद घर में गंगा जल का छिड़काव करना चाहिए।
4. ग्रहण खत्म होने के बाद एक बार फिर स्नान करना चाहिए। कहते हैं कि ऐसा शुभ फलों की प्राप्ति होती है।
5. ग्रहण काल के दौरान खाने-पीने की चीजों में तुलसी का पत्ता डालना चाहिए।