दुकान (Shop) किसी भी चीज की हो लेकिन उसमें बिक्री ना होतो दुकान किसी काम की नहीं होती है। दुकान हो तो उसमें बिक्री हो और धन का आगमन हो। वास्तु (Vastu) के हिसाब से दुकान का मुख के बारे में खास रूप से बताया गया है। वास्तु के मुताबिक दुकान के मुख की दिशा इस बात को निश्चित करती है कि व्यापार में फायदा होगा या घाटा।
दुकान वास्तु-

दुकान (Shop) को बनाते समय उसके आसपास के वातावरण के साथ ठीक ढंग से तालमेल स्थापित हो। दुकान का मुख पूर्व में हो तो आपको दुकान के काउंटर को दक्षिण दिशा में रखना चाहिए। दुकानों के सामने का फेस थोड़ा चौड़ा होना चाहिए और पीछे से थोड़ा संकरा। इससे दुकान में कारोबार में खूब सारा लाभ अर्जित होता है। इसके अलावा जिन दुकानों (Shop) का मुख पूर्व दिशा में खुलता है, उन्हें उत्तर दिशा में अपने इष्ट देव की तस्वीर को जरूर रखना चाहिए।