शनिदेव को हिंदू धर्म में न्याय का देवता माना गया है। कहते हैं कि शनिदेव हर जातक को उसके कर्मों के हिसाब से फल देते हैं। अच्छे कार्यों को करने वाले जातक को शुभ फल व गलत कामों में लिप्त लोगों को दंडित करते हैं। शनिदेव को प्रसन्न करने के लिए शनिवार का दिन बेहद खास माना गया है। मान्यता है कि इस दिन कुछ उपायों को करने से शनिदेव प्रसन्न होते हैं। 

यह भी पढ़े : Aaj ka Rashifal 8 अक्टूबर: इन राशि वालों को आज संतान को लेकर मन परेशान रहेगा, मां काली की आराधना करें 


इन राशियों पर शनि की साढ़ेसाती व ढैय्या का प्रभाव-

शनिवार को शनिदेव संबंधित उपायों को करने से सुख-समृद्धि की प्राप्ति होने की मान्यता है। रोजगार व नौकरी में तरक्की मिलती है। वर्तमान में मकर, कुंभ व धनु राशि वालों पर शनि की साढ़ेसाती चल रही है। मिथुन व तुला राशि वालों पर शनि ढैय्या का प्रभाव है। इस ढैय्या व साढ़ेसाती से पीड़ित जातकों को कष्टों का सामना करना पड़ता है। ऐसे में अगर आप की राशि भी शनि की महादशा से पीड़ित है तो जानें ये सरल उपाय-

यह भी पढ़े : Solar Eclipse 2022 Effect : सूर्य ग्रहण के दिन इन 6 राशि वाले लोग रहें सावधान, इनकी बढ़ सकती हैं मुश्किलें


सुख-समृद्धि व भाग्य को चमकाने के लिए शनिवार की शाम काले कुत्ते या काली गाय को रोटी खिलाना चाहिए।

शनिवार के दिन शनि यंत्र की पूजा करनी चाहिए। मान्यता है कि ऐसा करने से शनिदेव प्रसन्न होते हैं और अपनी कृपा बरसाते हैं।

शनिवार के दिन हनुमान जी की पूजा करने व शनि चालीसा का पाठ करने से भी शनिदेव प्रसन्न होते हैं। 

यह भी पढ़े : Lunar Eclipse 2022 : देव दीपावली पर लगेगा साल का आखिरी व दूसरा चंद्र ग्रहण,  जानिए कब मनाई जाएगी देव दीपावली


शनिवार के दिन भगवान शिव का पूजन भी शुभ माना जाता है। कहते हैं कि इस दिन शिव पूजन करने से करने शनि के अशुभ प्रभाव कम होते हैं।

शनिवार के दिन झाड़ू खरीदना भी शुभ माना जाता है। इस दिन तिल का सेवन व तिल मिले जल से स्नान भी लाभकारी माना गया है।

अगर संभव हो सके तो शनिवार के दिन नीले वस्त्र धारण करने चाहिए। मान्यता है कि ऐसा करने से शनिदेव प्रसन्न होते हैं।