आज से शनि देव की वक्री चाल यानी की उल्टी चाल शुरू हो गई है। शनि देव सीधी चाल के बजाए उल्टी चाल से आगे बढ़ते है। इस असर राशियों पर पड़ता है। इसी तरह से शनि के अशुभ प्रभावों से जहां व्यक्ति का जीवन बुरी तरह प्रभावित हो जाता है, वहीं शनि के शुभ प्रभावों से रंक भी राजा बन जाता है। शनि कर्मों से फल देते हैं क्योंकि यह  न्याय के देवता है। इनकी कृपा जितनी शानदार होती है उतनी ही इनका क्रोध खतरनाक होता है।


ज्योतिष के अनुसार 11 अक्टूबर तक वक्री चाल ही चलेंगे। शनि की वक्री चाल कुछ राशियों के लिए बेहद फलदायी है। इन राशियों के लिए ये समय किसी वरदान से कम नहीं है। कुछ ही दिनों में शनि देव की जयंती भी है जो कि इस साल 10 जून को शनि जयंती मनाई जाएगी। इससे इस राशियों बहुत ही शुभ प्रभाव पड़ने वाला है-


वृषभ राशि
के लिए शनि की वक्री बहुत ही अच्छी होने वाली है। कार्यक्षेत्र में मान- सम्मान और पद- प्रतिष्ठा में वृद्धि होगी। हर कोई आपके काम की तारीफ करेगा और व्यापार के लिए ये समय शुभ रहने वाला है। नौकरी में तरक्की के योग बन रहे हैं।

सिंह राशि वाले लोगों पर शनि की वक्री चाल से कई तरह के फायदा हो सकता है। कार्यों में सफलता प्राप्ति के योग बन रहे हैं। व्यापार और नौकरी के लिए समय शुभ है। आर्थिक पक्ष मजबूत होगा।

कन्या राशि वालों के लिए शनि का वक्री होना से सामाजिक कार्यों में हिस्सा लेंगे, जिससे समाज में मान-सम्मान बढ़ेगा। पारिवारिक जीवन में रिश्ते मधुर होंगे। कार्यक्षेत्र में सफलता हासिल करेंगे। धन- लाभ होने के योग भी बन रहे हैं।