नई दिल्ली। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार किसी भी ग्रह का राशि परिवर्तन सभी राशियों के जीवन पर प्रभाव डालता है। शनि देन 29 अप्रैल को ही अपनी स्वराशि कुंभ में प्रवेश किया है और वे यहां पर 2024 तक यही विराजमान रहेंगे। ज्योतिष के मुताबिक शनि ग्रह सबसे धीमी गति से चलने वाला ग्रह है। शनि ग्रह को एक राशि से दूसरी राशि में प्रवेश करने में ढाई साल लगते हैं।इसलिए अपनी राशि कुंभ में शनि ग्रह मे 30 साल बाद प्रवेश किया है। और शनि ग्रह इस राशि में 12 जुलाई तक रहने वाले हैं। शनि के इस गोचर का लाभ इन राशियों को मिलने वाला है।

यह भी पढ़ें : असम में बाढ़ की स्थिति में सुधार, लेकिन अभी भी 1.77 लाख लोग हैं प्रभावित

मेष राशि

इस राशि के जातकों के लिए शनि का राशि परिवर्तन लाभकारी साबित होने वाला है। मेष राशि में शनि ने 11 वें भाग में गोचर किया है, इसे लाभ और आय का स्थान माना जाता है। इसलिए कारोबार में अच्छा धनलाभ हो सकता है। साथ ही, धन के लिए नए रास्ते खुलेंगे। वहीं, शनि ग्रह इस राशि के दशम स्थान का स्वामी है। इसलिए इस दौरान करियर में उन्नति मिलेगी। कोई नौकरी का नया ऑप्शन आ सकता है। व्यवसाय से संबंधित यात्रा की संभावना है और इससे धन लाभ हो सकता है। व्यापार में निवेश करने की सोच रहे हैं, तो ये समय उचित है। किसी पुराने रोग से मुक्ति मिल सकती है।  

यह भी पढ़ें : आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन : मुख्यमंत्री साहा के प्रधान निजी सचिव को कारण बताओ नोटिस

वृषभ राशि

इस राशि में शनि देव दशम भाव में गोचर करने जा रहे हैं। और यहां साल 2024 तक विराजमान रहेंगे। ज्योतिष में इस भाव को कर्मक्षेत्र और जॉब का भाव माना गया है इसलिए इस समय आपको कारोबार में विशेष धनलाभ मिलेगा। इस अवधि में सफलता मिलेगी। कार्यक्षेत्र में आपको मान-सम्मान की प्राप्ति होती है। नए आइडिया कारोबार में वृद्धि करेंगे। शनि ग्रह अपने नवम स्थान के स्वामी हैं। इसलिए इस समय किस्मत का पूरा साथ मिलेगा। अटके हुए काम बनेंगे।