राशियों में दोष ग्रहों के कारण होते हैं और ग्रहों की सीधी-उल्टी चाल से राशियां प्रभावित होता है।  ज्योतिष के मुताबिक अभी शनि ग्रह उल्टी चाल चलने वाले हैं जिससे कुछ राशियों के लोगों के जीवन में कई तरह की समस्याएं आ सकती है। शनिदेव शनि ग्रह के स्वामी है और यह न्याय के देवता भी माने जाते हैं। शनिदेव कुदृष्टि से इंसान के जीवन में कई समस्याएं आती है।

 
शनि 5 जून को वक्री होंगे। फिर 12 जुलाई में वक्री अवस्था में ही कुंभ राशि से मकर राशि में प्रवेश करेंगे। बता दें कि मकर राशि में शनि 17 जनवरी 2023 तक रहने वाला हैं। इस 6 महीने में कई राशियों के जीवन पर प्रभाव पड़ने वाला है, क्योंकि इस दौरान जो राशियों के जातक शनि के प्रभाव से मुक्त हुए हैं, वे फिर से शनि की चपेट में आ जाएंगी। वहीं, जिन जातकों पर शनि की दशा शुरू हुई थी, उन्हें कुछ समय के लिए राहत मिल जाएगी।

 

इन लोगों के शुरू होगी शनि की साढ़े साती

अप्रैल की 29 तारीख को शनि के कुंभ राशि में प्रवेश करते ही धनु राशि के लोगों को शनि की साढ़े साती से मुक्ति मिल गई थी लेकिन 12 जुलाई को एक बार फिर से शनि मकर राशि में प्रवेश कर जाएंगे और इसी के साथ धनु जातकों पर फिर से शनि की दशा शुरू हो जाएगी। 17 जनवरी 2023 तक धनु राशि वालों के लिए समय बहुत ही कष्टकारी रहने वाला है। इस दौरान धनु राशि के जातक सावधानी बरतें लेकिन 2023 17 जनवरी के बाद इन जातकों को पूरी तरह से शनि साढ़े साती से मु्क्ति मिल जाएगी।

 
इन राशि पर भी होगा शनि का साया

धनु राशि के जातकों के साथ -साथ इस अवधि में मिथुन और तुला के जातक भी शनि की चपेट में आ जाएंगे। इन लोगों पर इस दौरान शनि की ढैय्या शुरू हो जाएगी। वहीं, मकर और कुंभ राशि के जातक शनि की साढ़े साती से परेशान रहेंगे। वहीं, इस अवधि में कर्क, वृश्चिक और मीन राशि वालों को राहत मिलेगी।