अभी ग्रहों की चाल में शनि ग्रह की चाल बदली हुई है, जिसका प्रभाव कुछ राशियों पर बहुत ही बुरा पड़ने वाला है। शनि न्याय के देवता माने जाते हैं। कर्मों के हिसाब से व्यक्ति को सजा देते हैं। इस समय अभी कर्मफल दाता शनिदेव वक्री चाल यानी उल्टी चाल चल रहे हैं। शनि की उल्टी चाल 23 मई से शुरू हो गई थी। शनि 11 अक्टूबर तक उल्टी चाल ही चलेंगे। अक्टूबर तक कुछ राशियों को विशेष सावधान रहने की आवश्यकता है।


बता दें कि शनि के अशुभ प्रभावों से व्यक्ति का जीवन बुरी तरह प्रभावित हो जाता है। शनि के अशुभ होने पर राजा भी रंक बन सकता है। यह सब उनके कर्मों पर निर्भर करता है। इसी तरह से ज्योतिष क माने तो मिथुन राशि, तुला और मकर राशि वाले लोगों को सावधान रहने की आवश्यकता है।


मिथुन राशि के जातकों की बात करें तो इस समय शनि की ढैय्या का प्रभाव चल रहा है, जिस वजह से मिथुन राशि के जातकों पर शनि का अशुभ प्रभाव अधिक पड़ सकता है। आर्थिक समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। इस समय धन का खर्च सोच- समझकर ही करें और फैसला लें।


तुला राशि वालो पर शनि वक्री चाल से ढैय्या चल रही है। तुला राशि के जातकों को कई तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है। आर्थिक पक्ष कमजोर हो सकता है और मानसिक तनाव का सामना भी करना पड़ सकता है। वाद- विवाद से दूर रहें।


मकर राशि के जातकों पर भी इस समय शनि की साढ़ेसाती चल रही है। शनि की वक्री चाल से जातकों को कई तरह की समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। स्वास्थ्य संबंधित परेशानियां हो सकती हैं और नौकरी और व्यापार में भारी नुकसान हो सकता है।