सरसों का थोड़ा सा तेल आपकी कुंडली के सारे दोष तो दूर करता ही है साथ ही लाइफ में चमत्‍कार‍िक बदलाव भी ले आता है। तो आइए जानते हैं क‍ि सरसों के तेल का टोटका कौन से ग्रह दोष दूर करता है और कैसे भाग्‍य सुधारता है?

- अगर क‍िसी का बृहस्पति ग्रह कमजोर हो उस जातक को तेल के साथ हल्दी लेकर बृहस्पतिवार को दान करना चाह‍िए। मान्‍यता है क‍ि इसके दान से बृहस्पति ग्रह मजबूत होकर शुभ फल देने लगते हैं। वहीं सिर पर सरसों का तेल लगाने से शनि ग्रह उच्च दशा में परिवर्तित हो जाता है। कटोरे में सरसों का तेल लेकर अपने ईष्ट का नाम लेते हुए अपने सिर से सात बार उतार कर उसे बाहर फेंक दें। ऐसा करने से रोगों का नाश होता है।

- सरसों के तेल में बनी सब्जियां मजदूरों को दान करने से व्यापार में सफलता मिलती है। इसके साथ ही कार्यक्षेत्र में भी उच्‍चाध‍िकार‍ियों और सहकर्मियों का सहयोग मिलता है। न‍ियम‍ित दान करने से व्‍यापार में आने वाली उलझनें और द‍िक्‍कतें भी दूर होने लगती हैं।

- अगर क‍िसी की कुंडली में शन‍ि दोष हो तो उसे सरसों के तेल से बनी हुई सब्जियां खानी चाह‍िए। इससे जातक का शनि मजबूत होता है। साथ ही सांस फूलने की बीमारी भी दूर होती है। इसके अलावा अगर कुंडली में मंगल दोष हो तो उसे दूर करने के ल‍िए जातक को शरीर पर न‍ियम‍ित रूप से सरसों के तेल से मालिश करनी चाहिए।