Pitru Paksha Shradh का आज आखिरी दिन है। श्राद्ध पर्व का समापन सर्वपितृ अमावस्‍या के साथ होता है। आज ही वो आखिरी दिन है जब श्राद्ध कर्म करते अपने पूवर्जों के प्रति सच्‍ची श्रद्धा व्‍यक्‍त की जाती है। इस बार Sarv Pitru Amavasya 6 अक्‍टूबर यानी आज है। शास्‍त्रों में के अनुसार आज के दिन पितृगण धरती से देवलोक की ओर प्रस्‍थान करते हैं।

माना जाता है कि आज के दिन कुछ दान पुण्‍य के अलावा परोपकार के कार्य करने से पितरों का आशीर्वाद हमें प्राप्‍त होता है और हमारे जीवन में सुख समृद्धि बढ़ती है। ऐसे में हम आपको वो 6 वे काम बता रहे हैं जो सर्व पितृ अमावस्‍या के दिन करने से आपके घर में खुशहाली बनी रहेगी।


यह भी पढ़ें— गजब! शख्स का बंद हो गया था दिल, 3 साल बाद फिर धड़कने लगा, जानिए कैसे हुआ चमत्कार

यह कार्य सुबह स्‍नान करके करें
Sarv Pitru Amavasya के दिन सुबह स्‍नान करने के बाद सबसे पहले सूर्य को लाल पुष्‍प और लाल चंदन मिलाकर जल चढ़ाएं। फिर बिना अन्‍न जल ग्रहण किए आटे की गोलियां बनाएं और पास में किसी तालाब या जल स्रोत के पास जाकर मछलियों को खिलाएं। ऐसा करने से न सिर्फ आपके जीवन से परेशानियां दूर होती हैं बल्कि आपको सुख समृद्धि का आशीर्वाद भी प्राप्‍त होता है।

निर्धनों को मीठे चावल खिलाएं
पितरों के निमित्‍त मीठी वस्‍तुओं का दान करने से आपको उनका आशीर्वाद प्राप्‍त होता है। आज के दिन अपने हाथ से मीठे चावल पकाकर मंदिर में ले जाएं और वहां पर निर्धन लोगों को खिलाएं। आपको ऐसा करता देख पितृ प्रसन्‍न होंगे और आपको सदा सुखी रहने का आशीर्वाद प्राप्‍त होगा।

ब्राह्मणों को भोजन करवाएं
Sarv Pitru Amavasya के दिन पितरों ब्रह्मणों को भोजन करवाना बहुत ही पुण्‍यदायी माना जाता है। इस दिन आदर और सत्‍कार से कम से कम 5 ब्राह्मणों को घर बुलाएं और उन्‍हें बेहद शुद्ध तरीके से बनाया गया घर का बना भोजन करवाएं। अगर 5 को न बुला सकें तो कम से कम 1 ब्राह्मण को अवश्‍य ही घर बुलाएं और भोजन करवाने के बाद दक्षिणा देकर विदा करें।

नींबू का उपाय
सर्व पितृ अमावस्‍या के दिन घर पर एक बड़ा नींबू पूरे दिन रखें और फिर शाम के वक्‍त सूर्यास्‍त के समय इस नींबू को अपने ऊपर से 4 बार उबारकर इसे 4 टुकड़ों में काटकर किसी चौराहे पर फेंक दें। इस कार्य को करने से आपके किसी भी काम में आ रही बाधा दूर होगी और बुरी नजर से आपका बचाव होगा।

ऐसे दूर करें काल सर्प दोष
पितृ अमावस्‍या के दिन काल सर्प दोष को दूर करने के लिए चांदी के छोटे से नाग और नागिन को लेकर आएं और उसकी पूजा करें। पूजा करने के बाद इनका माथे से स्‍पर्श करके इनको बहते जल में प्रवाहित कर दें। इससे आपकी कुंडली से काल सर्पदोष दूर हो जाएगा।