हिंदू धर्म में हर एक दिन व माह का महत्व होता है। हर माह में कई व्रत एवं त्योहार आते हैं, इन्हीं में से एक माह है फाल्गुन। हिंदू पंचांग के अनुसार, फाल्गुन मास के शुक्ल पक्ष की द्वितीया तिथि को फुलेरा दूज का त्योहार मनाया जाता है। इस साल फुलेरा दूज 04 मार्च यानी शुक्रवार को पड़ रही है।

धार्मिक मान्यताओं के अनुसार, फुलेरा दूज को विवाह के लिए बेहद शुभ माना जाता है। फाल्गुन मास में पड़ने वाली यह दूज भगवान श्रीकृष्ण व राधा रानी को समर्पित है। इस दिन से होली पर्व का शुभारंभ होता है। फुलेरा दूज को मांगलिक कार्यों के लिए अति शुभ मानते हैं।

यह भी पढ़े : Love Rashifal 25 February: आज इन राशि वालों को अपने प्यार से होगी मुलाकात , अविवाहित अपने प्यार की तलाश में रहेंगे


फुलेरा दूज 2022 शुभ मुहूर्त-

हिंदू पंचांग के अनुसार, इस साल फाल्गुन मास के शुक्ल पक्ष की द्वितीया तिथि 03 मार्च, गुरुवार को रात 09 बजकर 36 मिनट से शुरू होगी, जो कि 04 मार्च, शुक्रवार को रात 08 बजकर 45 मिनट पर समाप्त होगी। फुलेरा दूज को उदया तिथि को ध्यान में रखते हुए 04 मार्च को मनाया जाएगा।

कैसे मनाते हैं फुलेरा दूज- 

इस दिन घर में भगवान कृष्ण की पूजा की जाती है और अपने ईष्ट देव को गुलाल चढ़ाया जाता है। इस दिन मिष्ठान बनाया जाता है और उन्हें भगवान को भोग लगाया जाता है। यह दिन नए काम की शुरुआत के लिए बहुत शुभ है। नए काम की शुरुआत इस दिन से कर सकते हैं। इस दिन राधा-कृष्ण को अबीर-गुलाल अर्पित किया जाता है। इस दिन से लोग होली के रंगों की शुरुआत भी करते हैं। यह दिन सभी दोषों से मुक्त माना जाता है। भक्त घरों और मंदिरों दोनों जगह में देवता की मूर्तियों या प्रतिमाओं को सुशोभित करते हैं और सजाते हैं।

यह भी पढ़े : राशिफल 25 फरवरी: इन 2 राशियों के लोग के लिए संकट का समय है , ये लोग नया कारोबार शुरू कर सकते हैं 


फुलेरा दूज के दिन रिकॉर्ड तोड़ होती हैं शादियां-

फुलेरा दूज को सर्दी के मौसम के बाद इसे शादियों के सीजन का अंतिम दिन माना जाता है। इसलिए इस दिन रिकॉर्ड तोड़ शादियां होती हैं। फुलेरा दूज के अबूझ मुहूर्त होने के कारण इसे विवाह, संपत्ति की खरीद इत्यादि सभी प्रकार के शुभ कार्यों को करने के लिए दिन ज्यादा शुभ माना जाता है।