हर एक राशि का स्वामी होता है और स्वामी ग्रह के स्वभाव का असर राशि परप पड़ता है। ज्योतिष में ऐसी तीन राशियों के बारे में बताया गया है, जो स्वाभाविक रूप से जीवन जीना पसंद करती हैं। दुनिया में आज के समय में दिखावा बहुत बड़ी बीमारी है। लोग दिखावे के लिए कुछ भी कर सकते हैं। लेकिन इसका पहचान आप उसकी नाम और राशि के मुताबिक कर सकते हैं। जैसे कि कुछ लोगों को दिखावा बिल्कुल पसंद नहीं होता। इनको किसी से न गलत कहना पसंद करती हैं और गलत सुनना पसंद करती हैं।
धनु राशि (sagittarius)-

धनु राशि के स्वामी गुरु बृहस्पति बताए जाते हैं। इस राशि के लोग जिज्ञासु, ज्ञानी, उदारवादी और आदर्शवादी होते हैं. ये छोटी छोटी बातों को दिल से नहीं लगाते। ये जीवन को वास्तविकता के दृष्टिकोण से देखना पसंद करते हैं, इसलिए ये अक्सर काफी प्रैक्टिकल होते हैं। ये किसी के जीवन में और उसकी पर्सनल लाइफ में टांग अड़ाना पसंद नहीं करते हैं।

वृश्चिक राशि (Scorpio)-

वृश्चिक राशि के लोगों में न तो बनावटीपन होता है और न ही ये दूसरों का बनावटीपन पसंद करते हैं। ये लोग काफी मेहनती होते हैं और जो कुछ भी प्राप्त करते हैं, वो अपनी मेहनत से करते हैं। ये लोग दूसरों की काफी मदद करने वाले होते हैं लेकिन इनके अंदर एक खामी होती है, कि ये जल्द ही किसी की भी बातों में आ जाते हैं, इस कारण इन्हें जीवन में कई बार धोखे उठाने पड़ते हैं।

मिथुन राशि (Gemini)-

मिथुन राशि के लोगों में मानसिक प्रतिभा, कूटनीति, उत्साह, चातुर्य, मजाकिया और बहुमुखी प्रतिभा होती है। ये लोग जल्द किसी का भी दिल जीत लेते हैं। हालांकि ये किसी को इंप्रेस करने के लिए ऐसा व्यवहार नहीं करते हैं। इनका प्राकृतिक स्वभाव ही हंसमुख होता है। इन्हें जीवन को स्वाभाविक तरीके से जीना पसंद होता है हालांकि कई बार ये लोग अपने मतलब को पूरा करने के लिए सेल्फिश भी बन जाते हैं।

(यह आलेख सिर्फ जनरुचि के लिए हैं, यह आलेख इन सब का दावा नहीं करता है। यह लौकिक मान्यता आधारित है।)