ग्रहों चाल राशियों के जीवन पर कई तरह का प्रभाव डालती है। ग्रहों की चाल कभी सीधी तो कभी उल्टी होती है इस चाल से राशियों के जातकों को नफा-नुकसान होता है। ज्योतिष के मुताबिक गुरु ग्रह को शिक्षा, संतान, धार्मिक कार्य, शुभ कार्य, संपन्नता, वैभव और विवाह का कारक माना जाता है। बताया जाता है कि जब गुरु अस्त होते हैं, तो सभी तरह के मांगलिक कार्यों पर रोक लग जाती है।

अभी 22 फरवरी को गुरु कुंभ राशि में अस्त हो गए थे, लेकिन अब 23 मार्च 2022 को गुरु उदय होने वाले हैं। हालांकि 15 मार्च को मीन संक्रान्ति के बाद एक मास के लिए Kharmas लग जाएंगे, इसलिए बृहस्पति के उदय होने के बावजूद 14 अप्रैल तक कोई भी शुभ काम नहीं हो सकेंगे। लेकिन गुरु के उदय होने का प्रभाव तमाम राशियों पर जरूर पड़ेगा। इन राशियों में शामिल हैं........

यह भी पढ़ें- विदेश की मल्टीनेशनल कंपनीज की जॉब छोड़, PSC क्लियर कर बनी सबसे खूबसूरत DSP, तस्वीरें देख कायल हो जाओगे

मेष राशि


बृहस्पति मेष राशि के 11वें स्थान में उदय होंगे। इस स्थान को आय का स्थान कहा गया है। इसका सीधा सा मतलब है कि गुरु के उदय होने से मेष राशि के लोगों को खासा धन लाभ होने की उम्मीद है। किसी न किसी तरह इनकम बढ़ेगी, आय के लिए नए मार्ग खुलेंगे।

यह भी पढ़ें- आज मणिपुर के नवनिर्वाचित विधायक लेंगे शपथ, नए मुख्यमंत्री पर अभी भी बैठके जारी

वृषभ राशि

गुरु वृषभ राशि के दसवें भाव में उदित होंगे। इसे कार्यक्षेत्र का स्थान माना जाता है। यानी वृषभ राशि के लोग चाहे नौकरीपेशे से जुड़े हों या व्यवसाय से, हर क्षेत्र में अपना बेहतर प्रदर्शन करेंगे। इससे इन्हें अच्छा मुनाफा मिलेगा। नौकरी पेशा वालों को प्रमोशन मिल सकता है, या सैलरी में अच्छी वृद्धि हो सकती है। इसके अलावा बेहतर नौकरी का प्रस्ताव भी सामने आ सकता है।