इस महीने में ग्रह राशियों में परिवर्तन हो रहा है। जून के महीने में की तरह की बदला होगें जिसका असर राशियों पर पड़ने वाला है। इसी तरह से शनिदेव का असर रहेगा। अभी इस समय कुंभ, धनु और मकर राशि वालों पर शनि की साढ़ेसाती चल रही है। शनि की साढ़ेसाती लगने पर व्यक्ति को कई तरह की परेशानियां होती है। शनिदेव न्याय के देवता है और साथ ही शनि को ज्योतिष में क्रूर और पापी ग्रह कहा जाता है।


जैसे कि हम जानते हैं कि शनि के अशुभ होने पर व्यक्ति का जीवन बुरी तरह से प्रभावित हो जाता है। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार शनि देव कर्मों के हिसाब से फल देते हैं, जिस वजह से शनिदेव को कर्म फल दाता भी कहा जाता है। अभी ज्येष्ठ माह की अमावस्या तिथि पर शनि जयंती है। माना जाता है कि इस दिन शनिदेव का जन्म हुआ था।


शनि जयंती के दिन शनि देव की विधि- विधान से पूजा की जाती है। इस दिन शनि देव की पूजा करने से शनि देव की विशेष कृपा प्राप्त होती है।  घर में रहकर ही शनिदेव की पूजा करें। शनिदेव को प्रसन्न करने के लिए इस दिन शनि चालीसा का पाठ करें। बता दें शनि चालीसा का पाठ करने से शनि के अशुभ प्रभावों से मुक्ति मिलती है। इस दिन दान करने से विशेष फल की प्राप्ति होती है। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार शनि देव उन लोगों से प्रसन्न रहते हैं जो दान- पुण्य करते हैं।