नई दिल्ली। हिंदू धर्म में कुछ धातुओं को काफी पवित्र माना गया है। जीवन की समस्याओं से छुटकारा पाने और ग्रहों के शुभ प्रभाव के लिए व्यक्ति को धातु पहनने की सलाह दी जाती है। सोना, चांदी, तांबा आदि के अलावा पारद धातु भी धारण करने की सलाह दी गई है। लेकिन पारद धातु से बना कड़ा भी काफी चमत्कारी होता है।

यह भी पढ़ें : IPFT के सबसे प्रभावशाली नेता अध्यक्ष पद के लिए आमने-सामने, जानिए पूरा मामला

धार्मिक ग्रंथों में पारद को भगवान शिव का रूप माना गया है। ज्योतिष शास्त्र में इसे जीवंत धातु बताया गया है। इसे हाथ में धारण करने से व्यक्ति को कई तरह के रोगों से छुटकारा मिलता है। साथ ही, जीवन में आने वाली परेशानियों से भी मुक्ति पाई जा सकती है।

धार्मिक ग्रंथों में पारद धातु को भगवान शिव का स्वरूप माना गया है। इस कड़े को धारण करने से व्यक्ति को नकारात्मक शक्तियों से मुक्ति मिलती है। वहीं, अगर नकारात्मक शक्तियां व्यक्ति पर हावी होने लगती हैं, तो भी इस कड़े को धारण करने से व्यक्ति को इन सब चीजों से छुटकारा मिलता है। 

अगर कोई जातक हाथ-पैर और कमर दर्द से जूझ रहा है तथा तमाम इलाज के बाद भी आराम नहीं मिल रहा तो पारद धातु उसके लिए फायदेमंद हो सकता है।  मान्यता है कि पारद धातु ब्लड सर्कुलेशन को कंट्रोल करने का काम करता है। इसलिए इसे पहनते ही व्यक्ति को दर्द से राहत मिलती है। कई लोगों को मौसम संबंधी बीमारियां जल्दी घेर लेती हैं। ऐसे में पारद धातु का कड़ा धारण करने से व्यक्ति को इन सब बीमारियों से जल्दी आराम मिलता है। 

यह भी पढ़ें : असमिया सहित 24 नई भाषाओं को Google Translate में जोड़ा गया , यहां देखिए नई जुडी भाषाओं की लिस्ट

आजकल के लाइफस्टाइल ने व्यक्ति को मानसिक पीड़ा और तनाव का शिकार बना दिया है। ऐसे में इन चीजों से बाहर आने के लिए व्यक्ति को पारद कड़ा पहनने की सलाह दी जाती है। इससे मानसिक पीड़ा दूर होती है और इसे धारण करने से व्यक्ति एक्टिव हो जाता है।