देश में 5 राज्यों में चुनाव चल रहे हैं और 27 फरवरी के आसपास आकाश में भी एक साथ 5 ग्रह मकर राशि में रहेंगे. शनि की राशि मकर में बन रहा ये पंच ग्रही योग देश की दशा और दिशा बदलने में निर्णायक सिद्ध होगा. इससे पहले 1962 में जब अष्टग्रही योग बना था और तब चीन ने भारत पर हमला किया था. 

यह भी पढ़े :  नौकरीपेशा लोगों के लिए अच्‍छी खबर, PF खाते में देर से पहुंची रकम तो Employer को करनी होगी भरपाई

सीमा विवाद कराते हैं ऐसे योग 

ज्‍योतिष के मुताबिक जब भी कुछ ग्रह विशेष राशि में एक साथ आते हैं तो देश, काल पात्र के अनुसार कुछ बड़े परिवर्तन जरूर आते हैं. ऐसी स्थितियों में अक्सर सीमा विवाद होते हैं. इन दिनों बन रहा ये पंच ग्रही योग रुस और युक्रेन के मध्य सीमा विवाद बढ़ाएगा और अंतरराष्‍ट्रीय स्‍तर पर चिंता का विषय रहेगा. 

सत्‍तारूढ़ दल खो बैठेंगे सरकार 

ज्योतिषाचार्य के मुताबिक इस खगोलीय घटना का असर भारत में हो रहे चुनावों पर भी पढ़ेगा. इससे कुछ अप्रत्याशित परिणाम देखने को मिल सकते हैं. इस पंच ग्रही योग के चलते कुछ सत्तारूढ़ दल सत्ता खो बैठेंगे, तो कुछ को करारा नुकसान झेलना पड़ सकता है. चूंकि ये पंच ग्रही योग 27 फरवरी से 10 मार्च 2022 तक प्रभावी रहेगा और इसी 10 मार्च को 5 राज्‍यों के चुनानी नतीजे आएंगे. इतना ही इस दौरान काल सर्प योग भी प्रभावी रहेगा जो अप्रत्याशित घटनाएं करा सकता है. 

यह भी पढ़े : यूक्रेन की हॉट लड़कियां देख दीवाने हुए रूस के सैनिक, मैसेज करके बुला रहे मिलने


इन राशि वालों की पलटेगी किस्‍मत 

27 फरवरी, 2022 को मकर राशि में विशेष पंचायत आरंभ होगी. बुध,मंगल व शनि पहले से इस में मौजूद हैं वहीं उसी दिन चंद्रमा और शुक्र भी इसमें प्रवेश कर जाएंगे. यह स्थिति कुछ लोगों के लिए बेहद शुभ साबित होगी. पंच ग्रही योग मेष, वृषभ ,कर्क, तुला, मकर राशि वालों को चुनावों में लाभ दिलाएगा. इन लोगों को या तो खोई सत्‍ता मिल सकती है या नई सत्‍ता मिलेगी. वहीं जिन लोगों की कुंडली में शुक्र, शनि, बुध, चंद्र और मंगल अच्छी स्थिति में होंगे उनके लिए तो यह पंच ग्रही योग किस्मत पलटने वाला साबित होगा. 

वहीं जिनके जन्मांग में पूर्ण कालसर्प योग है, उनका भाग्य भी इस समय से बदल जाएगा. उनके जीवन में अर्श से फर्श पर और फर्श से अर्श तक पहुंचने की स्थिति बनेगी. कुछ लोगों को अचानक सरकार से बड़ा फायदा होगा. उनके सपने इस तरह पूरे होंगे जिसकी उन्‍होंने उम्‍मीद भी नहीं की होगी.