भगवान शिव की सबसे लंबी रात Mahashivratri आने वाली है। इस साल 2022 में 1 मार्च, मंगलवार को पड़ रही है। अगर आप महादेव के भक्त हैं तो इस शिवरात्रि पर  पूजा में रुद्राक्ष (Rudraksha) से उत्तम कुछ हो नहीं सकता है। महादेव का महाप्रसाद माने जाने वाले रुद्राक्ष को धारण करने से व्यक्ति के सभी रोग, शोक और भय दूर होते हैं और उसे जीवन में सुख, समृद्धि और सौभाग्य की प्राप्ति होती है।

यह भी पढ़ें: अगले महीने मार्च में इन लोगों पर मेहरबान होने वाले हैं तीन देवता, छप्पर फाड़ होगा फायदा

राशि के अनुसार धारण करें रुद्राक्ष-    मेष राशि (Aries)– एक मुखी, तीन मुखी या फिर पांच मुखी रुद्राक्ष    वृष राशि (Taurus)– चार मुखी, छह मुखी या फिर चौदह मुखी रुद्राक्ष    मिथुन राशि (Gemini)– चार मुखी, पांच मुखी और तेरह मुखी रुद्राक्ष    कर्क राशि (Cancer)– तीन मुखी, पांच मुखी या ​फिर गौरी-शंकर रुद्राक्ष    सिंह राशि (Leo)– एक मुखी, तीन मुखी और पांच मुखी रुद्राक्ष    कन्या राशि (Virgo)– चार मुखी, पांच मुखी और तेरह मुखी रुद्राक्ष    तुला राशि (Libra)– चार मुखी, छह मुखी या फिर चौदह मुखी रुद्राक्ष
    वृश्चिक राशि (Scorpio)– तीन मुखी, पांच मुखी या फिर गौरी-शंकर रुद्राक्ष


यह भी पढ़ें: जिंदगी में चाहिए खूब तरक्की तो आज ही रविवार करें ये सरल से उपाय

    धनु राशि (Sagittarius)– एक मुखी, तीन मुखी या पांच मुखी रुद्राक्ष
    मकर राशि (Capricorn)– चार मुखी, छह मुखी अथवा चौदह मुखी रुद्राक्ष    कुंभ राशि (Aquarius)– चार मुखी, छह मुखी या फिर चौदह मुखी रुद्राक्ष    मीन राशि (Pisces)– तीन मुखी, पांच मुखी या फिर गौरी-शंकर रुद्राक्ष