आज दिवाली का सबसे शानदार दिन है। आज के दिन पटाखों, फुलझड़ियों से मां लक्ष्मी का स्वागत किया जाता है। आज का दिन बहुत ही खास है और आज के दिन मां लक्ष्मी (Maa Lakshmi) की खास विधि-विधान के साथ पूजा की जाती है। बताया जाता है कि आज के दिन मां लक्ष्मी (Maa Lakshmi) की पूजा करने से घर में सुख समृद्धि आती है।

ऐसी खरीदें मां लक्ष्मी की मूर्ती-

    मां लक्ष्मी की ऐसी मूर्ति न खरीदें जिसमें मां लक्ष्मी (Maa Lakshmi) उल्लू पर विराजमान हों। ऐसी मूर्ति को काली लक्ष्मी का प्रतीक माना जाता है।
    लक्ष्मी माता की ऐसी मूर्ति ऐसी लेनी चाहिए जिसमें वो कमल पर विराजमान हों। उनका हाथ वरमुद्रा में हो और धन की वर्षा करता हो।
    कभी भी लक्ष्मी मां (Maa Lakshmi) की ऐसी मूर्ति ना लेकर आएं जिसमें वो खड़ी हों। ऐसी मूर्ति लक्ष्मी मां के जाने का प्रतीक मानी जाती हैं।

क्यों करें मिट्टी के गणेश-लक्ष्मी (Ganesh-Lakshmi) की पूजा

भगवान गणेश लाल एवं श्वेत वर्ण के रूप में है और दूसरी तरफ मिट्टी का निर्माण ब्रह्मा जी के द्वारा किया गया है। मिट्टी से बनी मूर्ति के पूजन का विधान हमारे धर्म शास्त्रों में भी मिलता है। यदि मिट्टी गंगा जी, तालाब, कुएं या गौशाला से लाकर भगवान गणेश-लक्ष्मी (Ganesh-Lakshmi) की मूर्तियां बनाई जाए और फिर उनकी पूजा अर्चना की जाए तो अत्यंत लाभकारी होता है। हालांकि प्लास्टर आफ पेरिस से बनी मूर्तियों का जिक्र हमारे शास्त्रों में नही मिलता है। सोने की मूर्ति का पूजन किया जा सकता है।