ज्योतिष शास्त्र में मंगल राशि परिवर्तन काफी अहम माना गया है। 10 अगस्त से मंगल वृषभ राशि में संचरण कर रहे हैं। 16 अक्टूबर तक इसी राशि में विराजमान रहेंगे। मंगल गोचर के प्रभाव से कई राशि वालों को तरक्की के साथ धन लाभ होने के संकेत दिख रहे हैं। जानें मंगल राशि परिवर्तन का सभी राशियों पर प्रभाव-

यह भी पढ़े : आज से 300 रुपये देकर कर सकेंगे तिरुपति बालाजी के विशेष दर्शन, टिकट विंडो दोपहर 3 बजे से खुलेंगे


मेष- मेष राशि के दूसरे भाव में मंगल विराजमान होने से आपको आर्थिक मोर्चे पर परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है। छात्रों के लिए समय अनुकूल रहेगा। यात्रा के योग बन रहे हैं।

वृषभ- मंगल आपकी राशि के लग्न भाव में होने से आपको माता-पिता का सहयोग प्राप्त होगा। जीवनसाथी के साथ अच्छा समय बीतेगा। पैसों के मामले में सावधानी बरतें।

यह भी पढ़े : IIT बॉम्बे में भी MMS स्कैंडल, वॉशरूम की खिड़की से वीडियो बना रहा था कोई , अब प्रबंधन ने लिए कड़े फैसले


मिथुन- मिथुन राशि वालों के 12वें भाव में मंगल का गोचर होने से आपके खर्चों में वृद्धि हो सकती है। पार्टनरशिप के काम में मुश्किलें आ सकती हैं।

कर्क- मंगल का गोचर कर्क राशि के 11वें भाव में हुआ है। इस दौरान नौकरी पेशा करने वाले जातकों को कार्यस्थल पर प्रशंसा मिल सकती है। प्रमोशन के योग बनेंगे।

सिंह- आपकी राशि के 10वें भाव में मंगल गोचर होने से कार्यक्षेत्र में सफलता हासिल होगी। व्यापार में मुनाफा हो सकता है। शिक्षा से जुड़े लोगों के लिए समय अनुकूल रहेगा।

यह भी पढ़े : कांग्रेस नेता ने बेटे को नौकरी दिलाने के बहाने महिला को घर पर बुलाया..! फिर किया गंदा काम


कन्या- कन्या राशि के नवम भाव में मंगल गोचर बेहद लाभकारी माना जा रहा है। मंगल गोचर की अवधि में आपको आकस्मिक धन लाभ हो सकता है। भाई-बहन का सहयोग मिलेगा।

तुला- तुला राशि के 8वें भाव में मंगल गोचर अशुभ माना जा रहा है। इस दौरान आपको चुनौतियों का सामना करना पड़ सकता है। वाणी पर काबू रखें।

वृश्चिक- वृश्चिक राशि वालों के सातवें भाव में मंगल गोचर बेहद व्यापारिक दृष्टि से लाभकारी माना जा रहा है। इस दौरान जीवनसाथी की सेहत का ध्यान रखें।

धनु- धनु राशि के छठवें भाव में मंगल गोचर शत्रुओं पर विजय दिला सकता है। परीक्षा में सफलता दिलाएगा। खर्चों में वृद्धि के योग बनेंगे। नौकरी में मिश्रित परिणाम प्राप्त होंगे।

मकर- मकर राशि के पांचवें भाव में मंगल गोचर लाभकारी माना जा रहा है। इस दौरान नौकरी में तरक्की मिल सकती है। व्यापारियों को लाभ होगा।

कुंभ- कुंभ राशि के चौथे भाव में मंगल गोचर होने से जीवनसाथी के साथ रिश्ते मजबूत होंगे। माता की सेहत का ध्यान रखें। कार्यस्थल पर नई जिम्मेदारियां मिल सकती हैं। कार्यक्षेत्र में बदलाव की संभावना है।

मीन- मीन राशि के तीसरे भाव में मंगल गोचर आपके साहस व पराक्रम में वृद्धि करेगा। इस दौरान आपको नौकरी व व्यापार में अनुकूल परिणाम प्राप्त हो सकते हैं।