आज छोटी दिवाली (Choti Diwali) या नरक चतुर्दशी (Narak Chaturdashi) का त्योहर है। आज के दिन यमराज (Yamraj) की पूजा की जाती है। बताया जाता है कि इस दिन यमराज की पूजा करने से मौत के बाद मुक्ति मिलती और अकाल मौत होती है। ज्योतिष के मुताबिक इसस दिवाली का पंचांग जानिए-


3 नवंबर (बुधवार): कार्त्तिक कृष्ण त्रयोदशी प्रात: 9.02 बजे तक उपरांत चतुर्दशी अगले दिन सूर्योदय से पूर्व 6.04 बजे तक पश्चात अमावस्या। चतुर्दशी तिथि का क्षय। श्री हनुमान जयंती। नरक चतुर्दशी।

4 नवंबर (गुरुवार) : कार्त्तिक कृष्ण अमावस्यारात्रि 2.45 बजे तक उपरांत प्रतिपदा। दीपावली (Diwali)। प्रदोष काल में लक्ष्मीन्द्र-कुबेरादि पूजा। प्रदोष काल सायं 5.15 बजे से सायं 7.40 बजे तक। महानिशीथ काल में महालक्ष्मी (Mahalakshmi) पूजा। महाकाली पूजा। भगवान महावीर निर्वाण दिवस।

5 नवंबर (शुक्रवार) : कार्त्तिक शुक्ल प्रतिपदा रात्रि 11.15 बजे तक तदनंतर द्वितीया। अन्नकूट प्रतिपदा। गोवर्धन पूजा (Govardhan Puja)। बलि पूजा।

6 नवंबर (शनिवार) : कार्त्तिक शुक्ल द्वितीया सायं 7.45 बजे तक तदनंतर तृतीया। यम द्वितीया। चित्रगुप्त पूजा। भैया दूज (bhaia  duj)। यम पंचक खत्म।

7 नवंबर (रविवार) : कार्त्तिक शुक्ल तृतीया सायं 4.23 बजे तक पश्चात चतुर्थी। भद्रा (करण) रात्रि 2 बज कर 50 मिनट से।