वैदिक ज्योतिषशास्त्र में ग्रहों की चाल का विशेष महत्व होता है। ग्रह-नक्षत्रों की चाल का सभी 12 राशियों पर प्रभाव पड़ता है। ग्रहों की चाल से कुछ राशि वालों को शुभ फल मिलते हैं तो कुछ राशि वालों को अशुभ फल की प्राप्ति होती है। ग्रहों की चाल से ही राशिफल का आकंलन किया जाता है। ग्रहों की चाल से 20 फरवरी तक कुछ राशि वालों को विशेष सावधान रहने की आवश्यकता है।

वृष राशि- 

असंतोष रहेगा।

भाइयों के साथ मनमुटाव हो सकता है।

बातचीत में संयत रहें, वाणी में कठोरता के भाव रहेंगे।

खर्च में वृद्धि हो सकती है। 

दांपत्य जीवन में परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है।

इस समय धैर्य से काम लें।

धन- हानी हो सकती है।

मिथुन राशि- 

मन में निराशा के भाव उत्पन्न हो सकते हैं।  

कार्यक्षेत्र में परिवर्तन संभव है।

वस्त्रों व गहनों के प्रति रूझान रहेगा।

स्वास्थ्य के प्रति सचेत रहें।

आत्मसयंत रहें। 

वाणी में सौम्यता रखें। 

कार्य में परश्रिम की अधिकता अधिक रहेगी।

कर्क राशि- 

अपनी भावनाओं में वश में रखें, आत्म संयत रहें।

क्रोध की भी अधिकता रहेगी।

जीवनसाथी से वैचारिक मतभेद हो सकते हैं। 

इस समय नया कार्य शुरू न करें।

धन- हानि हो सकती है।

धन का खर्च सोच- समझकर ही करें।

कुंभ राशि-  

धैर्यशीलता में कमी आ सकती है।

अपनी भावनाओं को वश में रखें।

पारिवारिक जिम्मेदारियां बढ़ सकती हैं।

वस्त्रों आदि पर खर्च बढ़ सकते हैं।

शैक्षिक कार्यों में व्यवधान आएंगे। 

संतान को स्वास्थ्य विकार रहेंगे।

मानसिक शांति तो रहेगी, लेकिन मन में असंतोष भी रहेगा।

अनियोजित खर्चों में वृद्धि होगी।