शनि के प्रकोप से हर कोई वाकिफ है। इनके प्रकोप से हर व्यक्ति परेशान रहते हैं। ज्योतिष के मुताबिक 11 अक्टूबर को वक्री अवस्था से मार्गी होंगे। मार्गी यानी शनि इस दौरान सीधी चाल शुरू करेंगे। इससे शनि की साढ़े साती और शनि ढैय्या से पीड़ित राशियों को कुछ राहत मिलने के आसार रहेंगे।
अक्टूबर में कई ग्रहों का राशि परिवर्तन भी होगा। जिसका प्रभाव सभी 12 राशियो पर पड़ेगा। 2 अक्टूबर को वृश्चिक राशि में शुक्र का गोचर, कन्या राशि में बुध, 22 अक्टूबर को तुला राशि में मंगल और 17 अक्टूबर को तुला राशि में सूर्य गोचर करेंगे। ग्रह-नक्षत्रों की स्थिति शनि दशा से पीड़ित राशियों के लिए लाभकारी साबित हो सकती है।
मिथुन राशि

 मिथुन राशि पर शनि ढैय्या का प्रभाव है। शनि की उल्टी चाल से आपकी मुश्किलें बढ़ी थीं। लेकिन शनि के मार्गी होने पर आपको राहत मिल सकती है। 11 अक्टूबर से शनि मार्गी अवस्था में आ जाएंगे। इस दौरान आपको मानसिक शांति मिलेगी। आर्थिक मोर्चे पर भी शनि की यह अवस्था आपके लिए लाभकारी साबित हो सकती है। धन आगमन के नए स्रोत बनेंगे। कर्ज से मुक्ति मिल सकती है।
धनु राशि

 धनु राशि पर शनि की साढ़े साती का अंतिम चरण चल रहा है। इसे अस्त चरण भी कहते हैं। आपको मार्गी शनि लाभकारी साबित हो सकते हैं। ग्रहों की स्थिति से अक्टूबर में आपकी आय में वृद्धि हो सकती है। धन लाभ के योग बनेंगे। मेहनत के अनुसार फल मिलेगा। वाहन खरीदारी की योजना बना सकते हैं।

तुला राशि
 
तुला राशि वाले शनि ढैय्या से पीड़ित हैं। शनि के मार्गी होने पर आपको शनि पीड़ा से राहत मिल सकती है। इस दौरान आप करियर में तरक्की करेंगे। कारोबारियों को मुनाफा हो सकता है। नौकरी संबंधी बाधाएं खत्म होंगी।