रत्न (gem) का जीवन पर काफ प्रभाव होता है। इनका जीवन पर अच्छा और बुरा प्रभाव पड़ता है। इसलिए सोच समझकर और ज्योतिष के अनुसार ही रत्न धारण करने चाहिए। बता दें कि रत्न शाखा में माणिक (ruby) को सूर्य (sun) का रत्न माना गया है जिसमें सूर्य के गुण विद्यमान होते हैं।
बता दें कि माणिक (ruby) गहरे गुलाबी या महरून रंग की आभा लिए होता है। माणिक एक बहुत ही ऊर्जावान रत्न होता है जिसे धारण करने से कुंडली में स्थित सूर्य को बल तो प्रदान होता ही है, सथ ही व्यक्ति के व्यक्तित्व में भी सकारात्मक परिवर्तन आते हैं।
ऐसे करें धारण  

माणिक (ruby) को ताम्बे या सोने की अंगूठी में बनवाकर सीधे हाथ की अनामिका अंगुली में रविवार को धारण करना चाहिए। इसके अलावा लॉकेट के रूप में लाल धागे के साथ गले में भी धारण कर सकते हैं। माणिक (ruby) धारण करने से पूर्व उसे गाय के दूध या गंगाजल से अभिषेक करके धूप-दीप जलाकर सूर्य मंत्र का जाप करके पूर्वाभिमुख होकर माणिक धारण करना चाहिए।

माणिक धारण करने के लिए  ’ऊं घृणि: सूर्याय नम:’ मंत्र की एक से तीन माला अवश्य करें।