घर में चूहा (Rats in house) का होना लाजमी है. कई बार देखा जाता है कि घर में यकायक चूहों की संख्या में बढ़ोतरी होने लगती है. इसे लेकर कई मान्यताएं समाज में प्रचलित हैं. कुछ लोग इसे शुभ मानते हैं, जबकि कुछ अशुभ. दरअसल चूहों को लेकर शगुन या अपशगुन इसकी संख्या और इसके क्रिया कलाप पर निर्भर करता है. 

चूहों के लेकर प्रचलित मान्यता है कि अगर घर में ये अचानक बढ़ने लगे और बहुत कोशिश करने के बाद भी घर से बाहर न जाए तो ये किसी बड़ी समस्या आने का संकेत देते हैं. ऐसे में सतर्क हो जाना चाहिए. 

मान्यता है कि चूहे अगर घर में बड़े-बड़े बिल बनाकर रह रहे हैं और बहुत कोशिश करने के बावजूद भी नहीं भाग रहे हैं तो यह स्थिति चिंताजनक है. ऐसे में कोई शत्रु आपको बड़ा नुकसान पहुंचा सकते हैं. चूहों की ऐसे हरकत से सावधान रहें. 

यदि घर में चूहे अधिक संख्या में मौजूद हैं और सामानों को कुतरते जा रहे हैं तो इसे अपशगुन माना गया है. ये इस बात का संकेत है कि सुख-समृद्धि कम होने वाली है. 

छछूंदर की तरह दिखने वाले चूहे शुभ माने गए हैं. इसे मां लक्ष्मी का स्वरूप माना गया है. मान्यता है कि छछूंदर लाईन बनाकर घर में आए तो बहुत जल्द धन लाभ होता है. रात के वक्त घर में चूहों का आवाज करना अशुभ होता है. चूहों की ये हरकत किसी बड़ी समस्या का संकेत देती है. 

मान्यता है कि घर में चूहों या छछूंदर को मारना नहीं चाहिए. क्योंकि इन्हें भगवान गणेश और लक्ष्मी का स्वरुप माना गया है. इन्हें मारने से दोष लगता है. ऐसे में इन्हें मारने की बजाय घर के बाहर फिटकिरी रखना चाहिए.