आज बुधवार है और आज का दिन भगवान गणेश को समर्पित होता है। आज के दिन सर्वप्रथम पूजने वाले श्री गणेश जी की पूजा करने से जीवन कई संकट दूर होते हैं और हर कार्य सफल होते हैं। अभी पंचांग के मुताबिक माघ का महीना (Magha Month) चल रहा है और मान्यता है कि माघ के महीने को मोक्ष का महीना बताया गया है।

इस मोक्ष माघ मास में भगवान गणेश को समर्पित दो बहुत महत्वपूर्ण उपवास रखे जाते हैं। सकट चौथ (Sakat Chauth 2022) 21 जनवरी को पड़ रही है, जो कि गणेश जी को समर्पित होती है। इसके बाद 4 फरवरी को गणेश जयंती (Ganesh Jayanti 2022) मनायी जाएगी। इसे गणेश के जन्म के उपलक्ष्य में मनाया जाता है।

कहा जाता है कि  गणेश जयंती (Ganesh Jayanti 2022) के दिन व्रत करने और भगवान गणेश की जन्म कथा को सुनने से सभी मनोकामनाएं पूरी होती हैं। इसका का व्रत भी रखा जाता है और पूजा की जाती है।
शुभ मुहूर्त

शुक्ल पक्ष की चतुर्थी तिथि 04 फरवरी शुक्रवार को सुबह 04:38 बजे से शुरू होकर शनिवार 05 फरवरी को सुबह 03:47 बजे समाप्त होती है।  गणेश जयंती के दिन सुबह 11.30 बजे से दोपहर 01.41 बजे तक का समय गणपति बप्पा की पूजा के लिए अच्छा बताया गया है।