घर सभी बड़े बुजुर्ग रात में नाखूनों (nails) और बालों (hair) को काटने से मना करते हैं लेकिन भी आपने सोचा है आखिर क्यों रात में ये कार्य करने से मना किया जाता है। तो आइए जानते हैं इसकी सच्चाई......

 

हिन्दू धर्म में शाम के समय देवी लक्ष्मी (Goddess Lakshami) का घर में प्रवेश होता है। शाम के वक्त आरती पूजा पाठ किए जाते हैं। शाम का समय धार्मिक समय होता है तो इस टाइम पर किसी तरह के प्रतिबंधित कार्य नहीं किए जाते हैं। इस समय शांति का समय होता है।
जैसे कि हम जानते हैं कि मां लक्ष्मी को साफ सफाई बहुत मायने रखती है। तो ऐसे में बालों और नाखूनों को काटने से घर में गंदगी होती है और इसे माता लक्ष्मी का अनादर माना जाता है। इससे घर में धन हानि होती है और दरिद्रता (Poverty) आ जाती है। इस मान्यता को सच मानकर तमाम लोग इस नियम का पालन करते हैं।
रात को बाल और नाखून काटने का वैज्ञानिक तथ्य (Scientific Facts) है। बता दें कि काफी समय पहले घरों में रोशनी के अच्छे प्रबंध नहीं हुआ करते थे। लोग ज्यादातर काम सूर्य अस्त होने से पहले ही निपटाने का नियम था। रात के समय कैंची से नाखून काटने से चोट लगने की आशंका रहती थी, वहीं बाल इधर उधर उड़ते थे। इसलिए हमारे पूर्वजों ने इस काम को रात में करने से मना किया। रात में बाल और नाखून काटने से बाल उड़कर गंदगी फैलाते हैं। बालों और नाखूनों में कई तरह के बैक्टीरिया होते हैं, जो खाने को दूषित करते हैं, इसलिए खान पान का ध्यान रखते हुए रात में नाखून और बाल काटने पर प्रतिबंधित कर दिया गया।