शास्त्रों के अनुसार 12 रविवार गायत्री मंत्र का 108 बार जाप कर एक माला हवन करने से भगवान आदित्य की कृपा से रोगों का नाश होता है। हवन में प्रयुक्त ईंटों का इस्तेमाल यदि अपने मकान बनवाने में करे तो भवन के समस्त वास्तुदोष नष्ट हो जाता हैं। घर में सुख समृद्धि के लिए वास्तु का ठीक होना  जरूरी है। 

प्रात: व सायंकाल घर में पूजा करके आरती अवश्य करनी चाहिए। आरती करते समय धूप व दीपक अवश्य जलाना चाहिए। शंख ध्वनि कटने से रोग, शत्रु व कर्जा सभी समाप्त हो जाते हैं। लक्ष्मी व यश-कीर्ति की निरंतर वृद्धि होती है। 

नारियल यदि एक आंख का मिल जाये तो आप पर मां लक्ष्मी विशेष मेहरबान है ऐसा समझना चाहिए। अकसर दो आंखों व एक मुंह वाला अर्थात तीन आंखों जैसा नारियल मिलता है। 

यदि एक आंख व एक मुंह वाला नारियल मिले तो रोज निम्न मंत्र पढ़कर सिंदूर व चांदी के वर्क करे चढ़ाना चाहिए। दरिद्रता, अपयश व कर्जा दूर होता हैं। मंत्र श्रीं एकाक्षी नारिकेल समृद्धि देहि देहि स्वाहा।।