ऐसा माना जाता है कि हनुमान जी (Hanuman Ji) उन देवताओं में से एक हैं, जो अपने भक्तों की भक्ति और प्रार्थना से जल्दी प्रसन्न हो जाते हैं. हर तरह के संकट या कष्टों के निवारण के लिए अधिकतर लोग हनुमान जी का आसरा लेते हैं. इतना ही नहीं ये भी माना जाता है कि हनुमान की भक्तों पर सभी देवी-देवताओं की कृपा भी बनी रहती है. 

हनुमान जी की उपासना करने से मन का शांति मिलती है और आर्थिक एवं शारीरिक परेशानियां भी खत्म होती हैं. कई लोग हनुमान जी की मूर्ति या तस्वीर घर में रखते हैं, लेकिन वास्तु की मानें तो उनकी तस्वीरों को लगाने से पूर्व कुछ नियमों की जानकारी होना जरूरी है. देखा जाए तो वास्तु शास्त्र (Vastu)में कुछ नियम बनाए गए हैं और ऐसा माना जाता है कि अगर इन्हें न माना जाएतो घर में नेगेटिव माहौल बना रहता है. 

इतना ही नहीं इस कारण आर्थिक एवं शारीरिक तंगियां (Financial problems) भी हमारे जीवन को बुरी तरह प्रभावित करती हैं. 

न लगाएं ऐसी तस्वीरें

1. ऐसा माना जाता है कि हनुमान जी की ऐसी मूर्ति या तस्वीर घर में नहीं रखनी चाहिए जिसमें उन्होंने अपनी छाती चीर रखी हो.

2. शास्त्रों के मुताबिक घर में ऐसी तस्वीर लगानी चाहिए जिसमें हनुमान जी स्थिर अवस्था में विराजमान हो. कई बार लोग घर में पवनपुत्र की हवा में उड़ती हुई या पर्वत को हाथों में उठाई हुई तस्वीर लगा लेते हैं. मान्यता है कि ऐसा करने से बचना चाहिए.

3. ये भी कहा जाता है कि जिन तस्वीरों में हनुमान जी ने अपने भगवान श्री राम और लक्ष्मण को कंधे पर बिठा रखा हो वे भी घर में नहीं लगानी चाहिए.

4. हनुमान जी के द्वारा लंका दहन पाप के ऊपर सच की जीत का प्रतीक मानाजाता है. लेकिन लंका दहन से जुड़ी हनुमान जी की तस्वीरों को घर में लगाना शुभ नहीं जाता है. कहते हैं कि इससे घर की सुख और समृद्धि पर बुरा असर पड़ता है.

ये तस्वीरें लगाएं

आप चाहे तो हनुमान जी की पीले वस्त्र पहनी हुई तस्वीर घर में लगा सकते हैं. पीला सिंदूर हनुमान जी को अति प्रिय होता है और इससे सकारात्मक माहौल भी बनता है.

हनुमानजी जिस तस्वीर में बैठी हुई मुद्रा में हों, उसे लगाना भी शुभ माना जाता है.