कल परिवर्तिनी एकादशी है। इस दिन मां पार्वती और विष्णु जी पूजा की जाती है। इस दिन व्रत भी रखा जाता है। बता दें कि इस का व्रत रखने से जीवन के सभी पापों से मुक्ति मिल जाती है। लेकिन इस दिन कुछ गलतियां करने से पाप और ज्यादा बढ़ जाते हैं। बता दें कि शास्त्रों में सभी 24 एकादशियों में चावल खाने को वर्जित माना गया है।
एकादशी के दिन चावल खाने से इंसान रेंगने वाले जीव योनि में जन्म लेता है। इस दिन भूलकर भी चावल का सेवन नहीं करना चाहिए।

एकादशी के दिन भगवान विष्णु की पूजा-अर्चना करने के साथ ही खान-पान, व्यवहार और

सात्विकता का पालन करना चाहिए।

एकादशी के पति-पत्नी को ब्रह्नाचार्य का पालन करना चाहिए।

मान्यता है कि एकादशी का लाभ पाने के लिए व्यक्ति को इस दिन कठोर शब्दों का इस्तेमाल नहीं

करना चाहिए। इसके साथ ही लड़ाई-झगड़े से भी बचना चाहिए।

एकादशी के दिन सुबह जल्दी उठना शुभ माना जाता है और शाम के समय नहीं सोना चाहिए।