दिवाली (Diwali 2021) का त्योहार आने वाला है। दो नवंबर को धनतेरस (Dhanteras) के साथ पांच दिवसीय पर्व की शुरुआत हो जाएगी। बताया जा रहा है कि धनतेरस से दीपावली (Deepawali) पूजन तक कुछ खास मुहूर्त बन रहे हैं जिनमें पूजन करना श्रेष्ठ होगा। व्यापारिक संस्थानों में महालक्ष्मी (Mahalakshmi) के कुछ विशिष्ठ मुहूर्त पर पूजा की जाए तो बहुत ही लाभकारी माना जाता हैं।

धनतेरस (Dhanteras Muhurat) से दीपावली तक व्यापारिक संस्थानों में महालक्ष्मी पूजन के मुहूर्त-
धनतेरस (Dhanteras) 2 नवंबर 2021 मंगलवार
-12:06 बजे से 13:26 बजे तक चर के चौघड़िया ( शुभ मुहूर्त)
-13:43 से 15:13 तक कुंभ लग्न (स्थिर लग्न)
-16:39 से 18: 14 बजे तक मेष लग्न (शुभ मुहूर्त)
-18:14 से 20:10 तक वृषभ लग्न (स्थिर लग्न)
जनक धन्वंतरी जी का भी पूजन व हवन-

छोटी दीपावली, 3:11 2021 दिन बुधवार
- 10:46 से 12:00 बजे तक शुभ के चौघड़िया
-  14:48 बजे से 16:22 बजे  चर के चौघड़िया
- 16:22  बजे से 17:32 बजे तक लाभ के चौघड़िया
- 18:14 से 20:10 बजे तक  प्रदोष वेला और वृषभ लग्न (स्थिर लग्न)

दीपावली (Diwali)  4 नवंबर 2021 के दिन एवं रात्रि के शुभ मुहूर्त-

-प्रातः काल 6:40 से 8:00 बजे तक शुभ की चौघड़िया
-7:33 से 9:51 तक वृश्चिक लग्न (स्थिर लग्न)
-प्रातः 9:51बजे से 11:55 बजे तक धनु लग्न
-11: 55 से 13:37 बजे तक मकर लग्न(अभिजित मुहूर्त)
-15:05 बजे से 16: 30 बजे तक मीन लग्न
घरों में दीपावली पूजन के शुभ मुहूर्त-
- 18:06 बजे  20:02 बजे तक मेष लग्न व प्रदोष वेला
- 20:03 से 22:16 तक मिथुन लग्न
- 22:17 बजे से  24:35 बजे तक कर्क लग्न
- रात्रि 12: 35 बजे से 2:53  बजे तक सिंह लग्न निशीथ काल (मंत्र सिद्धि करने के लिए अथवा तांत्रिकों के लिए विशेष पूजन का मुहूर्त)