ज्योतिष शास्त्र में शनि को क्रूर ग्रह माना गया है क्योंकि वे न्याय के देवता हैं और सभी लोगों को उनके कर्मों के हिसाब से फल देते हैं। यही कारण है कि ज्यादातर लोग शनि का नाम सुनते ही घबरा जाते हैं क्योंकि उन्हें लगता कि शनि हमेशा अशुभ फल ही देते हैं। लेकिन ऐसा नहीं है। शनिदेव को सच्चाई के रास्ते पर चलने वाले, कठोर परिश्रम करने वाले और दूसरों की सहायता करने वाले लोग पसंद होते हैं।

प्रसन्न करने के उपाय
ऐसे में अगर आप भी शनिदेव को प्रसन्न करना चाहते हैं, शनि के अशुभ फल से छुटकारा पाना चाहते हैं तो शनिवार के दिन जिसे शनिदेव का ही दिन माना जाता है, उस दिन शनि मंदिर में जाकर शनिदेव की पूजा अर्चना करें। इसके साथ ही शनि से जुड़ी कुछ चीजों का दान करने से भी शनिदेव प्रसन्न होते हैं और अशुभता में कमी आती है। साथ ही जिन लोगों पर शनि की ढैया और शनि की साढ़ेसाती चल रही हो उन राशिवालों को तो जरूर शनिवार के दिन इन चीजों का दान करना चाहिए।

काली उड़द दाल और काला तिल
शनि ग्रह से जुड़ी समस्याओं के कारण अगर आर्थिक दिक्कतें आ रही हों तो शनिवार को सवा किलो काली उड़द दाल या काला तिल किसी निर्धन और जरूरतमंद व्यक्ति को दान करें। कम से कम 5 शनिवार तक ये दान करें। निश्चित तौर पर पैसों से जुड़ी समस्या खत्म हो जाएगी। लेकिन जिस शनिवार को आप काली उड़द की दाल या काला तिल दान कर रहे हों उस दिन खुद उसका सेवन न करें। काले तिल के दान से शनिदेव के साथ ही राहु-केतु के दोष भी शांत हो जाते हैं।

लोहे के बर्तन
लोहे से बना कोई सामान या लोहे का बर्तन दान करने से भी शनिदेव प्रसन्न होते हैं और ऐसी मान्यता है कि लोहा शनिदेव को काफी अधिक प्रिय है। शनिवार के दिन लोहे से बने बर्तन जैसे- तवा, कराही आदि का दान किसी निर्धन या जरूरतमंद व्यक्ति को करने से जीवन की सारे परेशानियां दूर हो जाती हैं और चोट-चपेट या किसी तरह की दुर्घटना से भी बचने में मदद मिलती है।

काला कपड़ा और काला जूता
अगर शनि से जुड़े किसी दोष की वजह से व्यक्ति की सेहत खराब हो गई हो या कोई गंभीर बीमारी हो गई हो जो ठीक ना हो रही तो काली चीजों का दान करने से लाभ हो सकता है। शनिवार के दिन काले कपड़े और काले जूतों का दान किसी जरूरतमंद व्यक्ति को करना चाहिए। ऐसा करने से शनिदेव प्रसन्न होते हैं और सेहत में सुधार होने लगता है। इसका कारण ये है कि लोहे की ही तरह काली वस्तुएं भी शनिदेव को बेहद प्रिय हैं।