ग्रहों की स्थिति-राहु मेष राशि में हैं। मंगल वृषभ राशि में हैं। सूर्य, बुध, शुक्र कन्‍या राशि में हैं। बुध वक्री हैं। शुक्र नीच के हैं। केतु तुला राशि में हैं। चंद्रमा आज भी नीच के होकर वृश्चिक राशि में हैं। गुरु वक्री होकर मीन राशि में हैं। शनि वक्री होकर मकर राशि में हैं। ग्रहों की स्थिति बहुत अच्‍छी नहीं कही जाएगी। जनमानस को अपना बहुत ख्‍याल रखना चाहिए।

यह भी पढ़े : Navratri 6th Day : आज का दिन मां कात्यायनी को समर्पित ,जानिए पूजन विधि, शुभ मुहूर्त, मंत्र, आरती व भोग


राशिफल-

मेष-बहुत सावधानीपूर्वक चलें। अपने और बच्‍चों के स्‍वास्‍थ्‍य के प्रति बहुत सचेत रहें। प्रेम में तू-तू, मैं-मैं से बचें। व्‍यापारिक दृष्टिकोण से करीब-करीब ठीक है लेकिन अन्‍य चीजों पर विशेष ध्‍यान रखें। हरी वस्‍तु का दान करें और सूर्यदेव को जल अर्पित करें। शुभ होगा।

वृषभ-स्‍वास्‍थ्‍य पर ध्‍यान देना होगा। अक्रामकता बढ़ सकती है। जीवनसाथी का पूरा-पूरा साथ मिलेगा। उनका स्‍वास्‍थ्‍य भी ठीक रहेगा। प्रेम और संतान की स्थिति मध्‍यम बनी हुई है। व्‍यापार लगभग ठीक चलता रहेगा।

मिथुन-शत्रु परास्‍त होंगे। किया गया प्रयास सफलता की ओर ले जाएगा। थोड़ा डिस्‍टर्ब होंगे लेकिन अच्‍छी स्थिति बन जाएगी आपकी। बुजुर्गों का आशीर्वाद मिलेगा। गूढ़ ज्ञान की प्राप्ति होगी। स्‍वास्‍थ्‍य मध्‍यम है। प्रेम, संतान भी मध्‍यम है। व्‍यापार लगभग ठीक है। लाल वस्‍तु का दान करें। बजरंग बली की अराधना करें।

यह भी पढ़े :  Panchang Today : नवरात्रि के छठे दिन इन मुहूर्त में करें मां दुर्गा की पूजा, प्रात 9 बजे से प्रात 10 बजकर 30 मिनट तक राहुकाल


कर्क-भावनाओं पर काबू रखें। महत्‍वपूर्ण निर्णय रोककर रखें। विद्यार्थियों के लिए अच्‍छा समय रहेगा। स्‍वास्‍थ्‍य भी ठीक है। प्रेम और संतान की स्थिति थोड़ी मध्‍यम कही जाएगी। प्रेम में तू-तू, मैं-मैं का संकेत है। व्‍यापारिक दृष्टिकोण से अति शुभ समय है। लाल वस्‍तु पास रखें।

सिंह-कलह से बचें। घरेलू सुख बाधित हो सकता है यद्यपि कि भूमि, भवन, वाहन की खरीदारी संभव है। फिर भी घरेलू सुख बाधित रहेगा। स्‍वास्‍थ्‍य ठीक-ठाक है। प्रेम और संतान की स्थिति भी अच्‍छी है। व्‍यापार लगभग चलता रहेगा।

यह भी पढ़े : पांच अक्टूबर को छत्र योग में मनेगी विजयदशमी, जानिए पूजन का शुभ मुहुर्त


कन्‍या-स्‍वास्‍थ्‍य मध्‍यम है। प्रेम और संतान भी मध्‍यम है। व्‍यापारिक दृष्टिकोण से सही समय कहा जाएगा। पराक्रमी बने रहेंगे और आपका पराक्रम निश्चित व्‍यापारिक सफलता दिलाएगा। लाल वस्‍तु का दान करें। बजरंग बली की अराधना करें।

तुला-धन का आवक बढ़ेगा। कुटुम्‍बीजनों में वृद्ध‍ि होगी लेकिन वाणी के कारण कुछ तू-तू, मैं-मैं और निवेश में धनहानि संभव है। प्रेम और संतान मध्‍यम है। व्‍यापारिक दृष्टिकोण से रुक-रुक कर चलते रहेंगे। शनिदेव की अराधना करते रहें।

वृश्चिक-समाज में सराहे जाएंगे। आपका कद बढ़ेगा। आकर्षण के केंद्र बने रहेंगे। जरूरत के हिसाब से चीजें मिलती रहेंगी। स्‍वास्‍थ्‍य ठीक-ठाक है। प्रेम-संतान अभी भी मध्‍यम चल रहा है। व्‍यापारिक दृष्टिकोण से एक सुखद अनुभव प्राप्त करेंगे। भगवान भोलेनाथ की अराधना करते रहें।

यह भी पढ़े :  Govardhan Puja 2022: इस बार नहीं मनाई जाएगी गोवर्धन पूजा! बड़ी वजह आई सामने , जानिए


धनु-मन परेशान रहेगा। खर्च की अधिकता मन पर दबाव बनाएगी। स्‍वास्‍थ्‍य मध्‍यम दिख रहा है। प्रेम और संतान की स्थिति अच्‍छी है। व्‍यापार में खर्च थोड़ा अधिक हो सकता है। लाल वस्‍तु पास रखना और बजरंग बली की अराधना शुभ होगी।

मकर-आर्थिक मामले सुलझेंगे। समाचार के माध्‍यम से कुछ अच्‍छे समाचार की प्राप्ति सम्‍भव है। प्रेम और संतान की स्थिति मध्‍यम चल रही है। व्‍यापारिक दृष्ट‍िकोण से भी बहुत शुभ नहीं है। फिर भी आर्थिक मामले आपके सुदृढ़ रहेंगे।

कुंभ-कोर्ट-कचहरी में विजय के संकेत हैं। राजनीतिक लाभ मिलेगा। पैतृक सम्‍पत्ति में बढ़ोत्‍तरी होगी। स्‍वास्‍थ्‍य मध्‍यम है। प्रेम-संतान भी मध्‍यम है लेकिन व्‍यापार की स्थिति अच्‍छी है। भगवान गणेश की अराधना करें।

मीन-यात्रा में लाभ होगा। रुका हुआ काम चल पड़ेगा। स्‍वास्‍थ्‍य मध्‍यम है। प्रेम की स्थिति भाग्‍यकारी है। संतान आज्ञा का पालन करेगी। व्‍यापार आपका ठीक-ठाक चलता रहेगा। लाल वस्‍तु पास रखें।