भारत में कई मंदिर है और यह अपने चमत्कार और इतिहास की वजह से दुनिया में प्रसिद्ध हैं। इनके चमत्कार के कारण यह लोगों को आर्कषित करते हैं। इनमें शामिल हैं महाराष्ट्र के पुणे शहर से लगभग 60 किमी दूर जेजोरी गांव की जयद्रि पर्वत श्रृंखला पर भगवान खंडोबा (Khandoba Temple) का भव्य मंदिर स्थित है।
बता दें कि भगवान शिव (Lord Shiva) के अवतार माने जाने वाले खंडोबा मंदिर (Khandoba Temple) के बारे में मान्यता है कि यह द्वापर युग (Dwapar era) में भी बिल्कुल ऐसा ही था, जैसा आजकल है। मंदिर परिसर में भगवान शिव की प्रतिमा है, जिसमें वे एक घोड़े पर सवार एक योद्धा के रूप में नजर आते हैं।
इन्हीं के साथ उनके हाथ में राक्षसों को मारने के लिए एक बड़ी खड्ग भी है। मान्यता है कि एक समय जब पृथ्वी पर मल्ला (Malla) और मणि (Mani) राक्षस का अत्याचार बढ़ गया तब उनका वध करने के लिए भगवान शिव ने मार्तंड भैरव (Martand Bhairav) का अवतार लिया था, जिन्‍हें बाद में खंडोबा के नाम से जाना गया।

खंडोबा मंदिर (Khandoba Temple) परिसर में स्थापित विभिन्न प्रकार विग्रह, इसका विशेष आकर्षण हैं। खंडोबा मंदिर के मुख्य द्वार के सामने पीतल का एक वृहद वृत्ताकार कछुआ फर्श पर इस तरह निर्मित किया गया है कि एक दृष्टि में वह केवल उल्टी रखी पीतल की थाली ही नजर आता है।
बता दें कि विशाल परकोटे से घिरे मंदिर के मुख्य भवन तक जाने वाली 345 सीढ़ियां चढ़कर जब श्रद्धालु प्रवेश करते हैं तो सामने ही बड़े दीप स्तम्भ नजर आते हैं। मन को आनंदित कर देने वाले इस मंदिर में 350 विशाल पत्थरों के बने दीप स्तंभ हैं, जो सीढ़ियों के दोनों ओर एक विशिष्ट क्रम में पहली सीढ़ी से ऊपर की अंतिम सीढ़ी तक फैले हुए हैं। इन स्तंभों के चारों और दीपक रखने के लिए जो आधार बनाए गए हैं, जिन पर दीपक रखकर जलाये जाने पर अत्यंत ही भव्य नजारा होता है।