असम के एक युवक (Assam youth) ने ट्विटर पर असम सरकार (Assam govt.) को अपने नागरिकों की आर्थिक स्थिति की देखभाल करने में विफल रहने के लिए जिम्मेदार बताया है। इसी के साथ युवक ने भविष्य में प्रतिबंधित संगठन ULFA-I में शामिल होने की खुले तौर पर कसम खाई है। राज्य में लगाए गए कोविड-19 (COVID-19) लॉकडाउन (lockdown) के कारण निराश युवा आर्थिक संकट से गुजर रहे हैं।





 युवक ने ट्विटर पर अपना दुख व्यक्त किया, साथ ही उसने कसम खाई है कि , "बहुत जल्द मैं ULFA-I में शामिल होने जा रहा हूं "। युवक ने ट्वीट कर कहा कि " इस सरकार ने केवल असमिया लोगों को धोखा दिया है। बचने का कोई विकल्प नहीं बचा। " सूत्रों के मुताबिक, लॉकडाउन के दौरान युवक ने स्टार्टअप से जुड़ने की कोशिश की थी, लेकिन वह अपना गुजारा करने में नाकाम रहा।



वित्तीय सहायता (financial support) की कमी के कारण खुद को बनाए रखने की सभी आशा खोते हुए, युवाओं ने घोषणा की कि वह जल्द ही भविष्य में ULFA-I में आजीविका के साधन के रूप में शामिल होंगे। हालांकि, असम सरकार ने अभी तक ट्वीट के संबंध में कोई कार्रवाई नहीं की है। अधिक विवरण की प्रतीक्षा है।