असम के लखीमपुर जिले की कॉलेज गर्ल, जो एक हथियार के हमले में गंभीर रूप से घायल हो गई, "गंभीर स्थिति" में है। नंदिता सैकिया के रूप में पहचानी गई लड़की का असम के डिब्रूगढ़ में ब्रह्मपुत्र डायग्नोस्टिक एंड हॉस्पिटल में इलाज चल रहा है। नंदिता को वेंटिलेटर सपोर्ट पर रखा गया है, जहां वह जिंदगी और मौत से जूझ रही हैं।

असम के धेमाजी जिले में रिंटू सरमा ने नंदिता सैकिया पर धारदार हथियार से हमला कर दिया. नंदिता ढकुआखाना के नबा काठबारी गांव की रहने वाली थीं। वह धेमाजी के मरिधल कॉलेज की बीए तृतीय सेमेस्टर की छात्रा थी। ब्रह्मपुत्र डायग्नोस्टिक एंड हॉस्पिटल के प्रोपराइटर हाफिजुर रहमान ने कहा कि “नंदिता सैकिया को वेंटिलेटर सपोर्ट के तहत रखा गया है और उनकी हालत गंभीर है। हमारे डॉक्टर उसे हर संभव इलाज दे रहे हैं।"


इस बीच, नंदिता के पिता ने सभी से अपनी बेटी के ठीक होने की प्रार्थना करने की अपील की है। पुलिस के अनुसार, नंदिता पर रिंटू सरमा नाम के एक व्यक्ति ने धारदार हथियार से हमला किया, जबकि वह अपनी सहपाठी कश्मीरा दत्ता और अपने पिता देबा दत्ता के साथ धेमाजी बस स्टैंड पर थी।

पुलिस ने कहा  कि“उन तीनों को तुरंत इलाज के लिए धेमाजी सिविल अस्पताल में भर्ती कराया गया। बाद में, नंदिता सैकिया को डिब्रूगढ़ के असम मेडिकल कॉलेज और अस्पताल में स्थानांतरित कर दिया गया, फिर ब्रह्मपुत्र अस्पताल में स्थानांतरित कर दिया गया, ” । इस बीच पुलिस ने रिंटू सरमा को गिरफ्तार कर पूछताछ शुरू कर दी है।