देशभर में 18 साल से ज्यादा उम्र के लोगों का टीकाकरण 1 मई से शुरू होने जा रहा है। महाराष्ट्र के अधिकारियों ने सोमवार को कहा कि राज्य में वैक्सीन की कमी के कारण एक मई से 18-45 वर्ष के आयु वर्ग के लिए कोविड टीकाकरण अभियान शुरू होने की संभावना नहीं है। राज्य के अधिकारियों ने कहा कि केंद्र के नए दिशानिर्देशों के तहत, महाराष्ट्र को अपनी खरीद की व्यवस्था करनी है और 45 साल तक के लोगों के टीकाकरण के लिए पर्याप्त स्टॉक सुनिश्चित करना है। यह राज्य का सबसे बड़ा डेमोग्राफिक ग्रुप है। पांच दूसरे राज्यों, राजस्थान, छत्तीसगढ़, झारखंड, पंजाब और केरल ने रविवार को कहा था कि वे टीकाकरण के अगले फेज को वैक्सीन की कमी के कारण स्थगित कर रह रहे हैं।

साथ ही गुवाहाटी में असम के स्वास्थ्य मंत्री हेमंत बिस्वा सरमा ने भी सोमवार को कहा कि राज्य में 18-45 वर्ष के लोगों का टीकाकरण मई के पहले सप्ताह तक शुरू होने पर संदेह है। उन्होंने टीके की उपलब्धता और 2 मई विधानसभा चुनाव परिणाम की घोषणा के मुद्दों की ओर इशारा करते हुए यह बात कही। सरमा ने मीडिया को बताया कि “वैक्सीन ऑर्डर भारत बायोटेक और सीरम इंस्टीट्यूट को दिया गया है। जब वे हमें टीके प्रदान करते हैं, तभी हम टीकाकरण शुरू कर सकते हैं। आज, केंद्र ने एक गाइडलाइन दी है, जिसके आधार पर यह पता लगाया जाएगा कि प्रत्येक राज्य को कितनी मात्रा में टीका मिलेगा।"

सरमा ने कहा कि असम चुनाव के नतीजे दो मई को आने हैं और कहा कि  “इसके अलावा 4 मई तक पेमेंट किए जाने की जरूरत है। इन प्रक्रियाओं के कारण मुझे नहीं लगता कि मई के पहले सप्ताह में 18-45 साल के लोगकों का टीकाकरण शुरू हो जाएगा लेकिन पोर्टल पर पंजीकरण शुरू होगा ” वहीं, महाराष्ट्र ने सीरम इंस्टीट्यूट और भारत बायोटेक को भी लिखा है, लेकिन कोई आधिकारिक रिपॉन्स नहीं मिला है। राज्य के एक अधिकारी के मुताबिक, "अनौपचारिक रूप से हम वैक्सीन निर्माताओं के संपर्क में हैं। लेकिन मौजूदा स्टॉक को केंद्र सरकार द्वारा बुक किया गया लगता है। किस राज्य को कितना स्टॉक सप्लाई करना है, यह तय करने में वैक्सीन निर्माताओं की भूमिका होती है” 

राज्य 28 अप्रैल से को-विन ऐप पर 18-45 साल के आयु वर्ग के लिए रजिस्ट्रेशन ऑपन कर देगा, लेकिन स्लॉट 1 मई से ऑपन नहीं हो सकेंगे। राज्य के नेशलन हेल्थ मिशन के निदेशक एन रामास्वामी के अनुसार, “टीका की उपलब्धता एक समस्या है। एक बार जब हमें सप्लाई मिल जाएगी, हम 18 साल से ऊपर के सभी लोगों के लिए टीकाकरण शुरू कर देंगे।”