शराबबंदी वाले बिहार (Bihar) में हेरोइन, गांजा और अफीम जैसे नशे के सामान की खपत भी बढ़ गई है। नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो, पटना (Narcotics Control Bureau, Patna) की टीम ने आरा में छापेमारी कर हेरोइन की खेप के साथ तीन धंधेबाजों को रंगे हाथ धर दबोचा। करीब 650 ग्राम हेरोइन (heroin) बरामद किया गया। 

पकड़े गए तीनों धंधेबाज भोजपुर के ही निवासी बताए जाते हैं। इसे लेकर नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो, पटना (Narcotics Control Bureau, Patna) की टीम ने नारकोटिक्स एक्ट के तहत केस दर्ज किया है। टीम पकड़े गए धंधेबाजों से पूछताछ कर रैकेट से जुड़े और लोगों के बारे में पता लगा रही है। पकड़े गए धंधेबाजों में शाहपुर निवासी बासुकीनाथ गुप्ता, आदित्य राय और तियर निवासी संतोष कुमार साह शामिल हैं। ये तीनों लोग अपने जूतों में छिपाकर नशे का सामान असम (Assam) से बिहार (Bihar) लाए थे।

बताया जाता हैं कि नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो, पटना (Narcotics Control Bureau, Patna) को गुप्त सूचना मिली थी कि दीमापुर से आरा में हेरोइन की खेप आ रही है। जिसके बाद सुप्रीटेंडेंट के निर्देश पर पांच सदस्यीय टीम का गठन किया गया। धंधेबाज आरा रेलवे स्टेशन पर उतरकर डिलेवरी देने के लिए खड़े थे, तभी नारकोटिक्स विभाग की टीम ने रेलवे स्टेशन के समीप दुर्गा मंदिर के समीप से शाहपुर निवासी बासुकीनाथ गुप्ता व आदित्य राय को धर दबोचा। तलाशी के दौरान दोनों के जूता के अंदर से 650 ग्राम हेरोइन की पुड़िया बरामद की गई। टीम के अनुसार पुलिस से बचने के लिए धंधेबाज जूता के अंदर हेरोइन छिपाकर लाए थे। बाद में पूछताछ करने पर टीम को बताया कि तियर निवासी संतोष कुमार साह को हेरोइन देने के लिए खड़े थे।

इधर, नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (Narcotics Control Bureau, Patna) टीम ने दोनों की निशानदेही के आधार पर छापेमारी कर धंधें में संलिप्त संतोष कुमार साह को धर दबोचा। रात में छापेमारी कर पकड़ा गया। टीम के अनुसार संतोष मुख्य रिसीवर है। पकड़े गए धंधेबाजों से पूछताछ कर तस्करी से जुड़े और सदस्यों के बारे में पता लगाया जा रहा है। इस दौरान टीम ने गुरुवार को पकड़े गए तीनों आरोपियों को कोर्ट में भी प्रस्तुत किया।

नवादा थाना क्षेत्र अन्तर्गत पश्चिमी रेलवे गुमटी-जगदेवनगर के समीप पुलिस ने जनवरी 2020 में छापेमारी कर 238 ग्राम हेरोइन के साथ एक तस्कर को रंगे हाथ गिरफ्तार किया था। पकड़े गए तस्कर के पास से चार लाख रुपये नकद, दो पासबुक और दो आधार कार्ड भी बरामद किया गया था। पकड़ा गया तस्कर जगरनाथ तेली उर्फ ललक तेली भोजपुर जिले के ही शाहपुर का निवासी था। मणिपुर (Manipur) की राजधानी इंफाल (Imphal) से कनेक्शन जुड़े होने की बात सामने आई थी। साल 2019 के सितंबर महीने में भी टीम ने हेरोइन के साथ तीन धंधेबाजों को पकड़ा था। नगर थाना क्षेत्र के गांगी गौसगंज इलाके में छापेमारी के दौरान 300 ग्राम हेरोइन के साथ तीन धंधेबाज पकड़े गए थे।