असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्व सरमा के जाली दस्तखत करने के मामले में मुख्य आरोपी और दो अन्य को गिरफ्तार कर लिया गया है। पुलिस ने सोमवार को यह जानकारी दी।

असम पुलिस के एक प्रवक्ता ने संवाददाताओं से कहा कि मुख्य आरोपी इमरान शाह चौधरी को रविवार को नयी दिल्ली में गिरफ्तार किया गया और दो अन्य आरोपियों-राजीब कलिता तथा दिलीप दास के साथ ट्रांजिट रिमांड पर यहां लाया जाएगा।

कलिता को नयी दिल्ली से यहां पहुंचने पर लोकप्रिय गोपीनाथ बोरदोलोई अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डे से गिरफ्तार किया गया वहीं दास को शहर में ही गिरफ्तार किया गया।

मुख्यमंत्री कार्यालय ने आठ सितंबर को दिसपुर थाने में एक प्राथमिकी दर्ज कराके आरोप लगाया था कि लोहित कंस्ट्रक्शन के नाम आवंटित एक काम के लिए सार्वजनिक स्वास्थ्य विभाग, जल के मुख्य अभियंता को दिये गये एक नोट में सरमा के फर्जी दस्तखत थे।

मामला दर्ज होने के बाद जांच शुरू हुई और कुछ ही घंटे में गुवाहाटी तथा शिवसागर की पुलिस ने लोहित कंस्ट्रक्शन से जुड़े चार लोगों को पकड़ लिया।

पूछताछ में इन चारों ने कथित रूप से जो जानकारी दी उससे चौधरी और अन्य आरोपियों का नाम सामने आया।