असम विधानसभा का शीतकालीन सत्र आज सुबह नौ बजे से शुरू हो चुका है। 20 दिसंबर से शुरू हो रहे असम विधानसभा (Assam Assembly) का 5 दिवसीय सत्र 24 दिसंबर, 2021 को समाप्त होगा। विपक्षी दल असम कांग्रेस (Congress) ने व्यक्त किया है कि वे सत्र में भ्रष्टाचार के मुद्दे को उठाएंगे।
असम विधानसभा अध्यक्ष बिस्वजीत दैमारी (Biswajit Daimary) ने कहा कि विधानसभा सत्र की समयावधि दोपहर 2 बजे के बजाय शाम 4 बजे या शाम 6 बजे तक बढ़ाई जाएगी। मुख्यमंत्री हिमंता बिस्वा सरमा (CM Himanta Biswa Sarma) के नेतृत्व वाली असम सरकार मवेशी संरक्षण विधेयक 2021 (Cattle Preservation Bill 2021) में संशोधन लाने के लिए पूरी तरह तैयार है।

असम सरकार राज्य विधानसभा के शीतकालीन सत्र में कई विधेयक भी पेश करेगी। शीतकालीन सत्र में पेश किए जाने वाले विधेयकों में असम सहकारी समिति संशोधन विधेयक 2021, सोनोवाल कछारी स्वायत्त परिषद संशोधन विधेयक 2021, देवरी स्वायत्त परिषद संशोधन विधेयक 2021 और असम आदिवासी विकास प्राधिकरण (निरसन) विधेयक 2021 शामिल हैं।
शीतकालीन सत्र (Winter Session) में पेश किए जाने वाले अन्य विधेयकों में असम आबकारी संशोधन विधेयक 2021, भूमि अधिग्रहण पुनर्वास और पुन: निपटान संशोधन विधेयक 2021 में उचित मुआवजे और पारदर्शिता का अधिकार और भूमि जोत संशोधन विधेयक 2021 पर असम का निर्धारण, सेवा संशोधन विधेयक 2021 में असम अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति के पदों का आरक्षण, गुवाहाटी नगर सहकारिता संशोधन विधेयक 2021 और असम नगरपालिका संशोधन विधेयक 2021 शामिल हैं।