राष्ट्रीय स्तर के दो होनहार किकबॉक्सर (national-level kickboxers) तीन अन्य लड़कियों के साथ असम के प्रतिबंधित विद्रोही संगठन ULFA (I) में शामिल हो गए हैं। महिला खिलाड़ियों ने एक वीडियो में अपने फैसले की घोषणा की है। नयमणि (Nayamani) पूर्वी असम के तिनसुकिया जिले की रहने वाली हैं, जबकि सबिता (Sabita) उत्तरी असम के धेमाजी जिले के गोगामुख की रहने वाली हैं।

वीडियो में दिख रही तीन लड़कियों में से एक की पहचान लखीमपुर जिले के लालुक की शर्मिष्ठा सैकिया (Sarmistha Saikia) के रूप में हुई है। मोरीगांव और माजुली की रहने वाली दो लड़कियों की पहचान अभी नहीं हो पाई है। तीनों महिलाएं ऐसे समय में ULFA (I) में शामिल होने के लिए जंगल की ओर बढ़ी हैं, जब असम सरकार शांति वार्ता के लिए संगठन के प्रमुख परेश बरुआ के संपर्क में है।
असम के मुख्यमंत्री हिमंता बिस्वा सरमा (CM Himanta Biswa Sarma) ने हाल ही में कहा है कि केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने उन्हें ULFA (I) के साथ प्रारंभिक वार्ता करने के लिए अधिकृत किया है। उन्होंने कहा था कि अगर चीजें सही दिशा में चलती हैं, तो केंद्र सरकार बाद में उल्फा के साथ शांति वार्ता में शामिल हो सकती है।