असम में भट्टादेव विश्वविद्यालय के अधिकारियों ने विश्वविद्यालय की शिक्षिका जयश्री दास की बर्खास्तगी को वापस ले लिया, जिसने कथित तौर पर निचले असम के बजली जिले के पाठशाला में भट्टादेव विश्वविद्यालय में कक्षाओं के बरामदे पर एक 20 वर्षीय छात्रा को कान पकड़कर स्क्वाट करवाया था।

यह भी पढ़े : Horoscope 25 March : आज इन राशि वालों को मिल सकता है शुभ समाचार , राशि अनुसार करें अपने इष्ट की पूजा


घटना का वीडियो बड़े पैमाने पर प्रसारित होने के तुरंत बाद  शिक्षक के खिलाफ सख्त कानूनी कार्रवाई की मांग की। विश्वविद्यालय में  पढ़ाने वाली महिला शिक्षिका ने एक व्हाट्सएप ग्रुप में कथित तौर पर उसके खिलाफ आपत्तिजनक टिप्पणी करने के लिए छात्रा को स्क्वाट करने के लिए मजबूर किया।

जयश्री दास ने कहा कि उन्होंने छात्रा को अपमानित करने के लिए दंडित किया था।

दास ने बताया की जो लड़की वीडियो में थी वह हमारी छात्रा है। मैं परीक्षा ड्यूटी के दौरान बहुत सख्त थी । इसलिए, उसने एक व्हाट्सएप ग्रुप में मेरे और मेरे परिवार के खिलाफ अपमानजनक टिप्पणी की। इसलिए मैंने उसे दंडित किया। 

यह भी पढ़े : Petrol-Diesel Price Hike : आज फिर बढ़े Petrol-Diesel के दाम, जानिए आपके शहर में क्या हैं नई कीमतें


इस घटना से बजली क्षेत्र में भारी आक्रोश फैल गया है और व्यक्तियों और संगठनों ने शिक्षका  के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है। एजेवाईसीपी की बजली जिला समिति ने घटना की कड़ी निंदा करते हुए दास के खिलाफ तत्काल कार्रवाई की मांग की। छात्रा ने कहा कि इस घटना ने उसे बहुत प्रभावित किया और वह तब से मानसिक रूप से परेशान थी। छात्रा ने कहा, मैं सो नहीं सकी क्योंकि इस घटना ने मुझे बहुत परेशान कर दिया है।"