असम के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता तरुण गोगोई ने कहा है कि केंद्रीय जल संसाधन मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत को राजस्थान सरकार को गिराने के बजाय बाढ़ की स्थिति से निपटने के लिए असम का दौरा करना चाहिए। तरुण गोगोई ने ट्वीट किया, बाढ़ और कटाव की वजह से असम कठिन दौर से गुजर रहा है। केंद्रीय जल संसाधन मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत को राजस्थान सरकार को गिराने के बजाय बाढ़ की स्थिति से निपटने के लिए असम का दौरा करना चाहिए। इससे जाहिर है कि बीजेपी सरकार सिर्फ घड़ियाली आंसू बहा रही है।

बता दें कि असम में बाढ़ जनित घटनाओं में तीन और लोगों की मौत हो गयी। असम में 33 जिलों में 27 लाख लोग बाढ़ से प्रभावित हैं। बारपेटा, कोकराझार और मोरिगांव से मौत के मामले सामने आए हैं । बाढ़ और भूस्खलन के कारण राज्य में इस साल 122 लोगों की मौत हुई है। उधर, राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने असम के मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनोवाल से बात की और राज्य के प्रभावित लोगों के प्रति एकजुटता प्रकट की । उन्होंने राष्ट्रपति भवन से असम, बिहार और उत्तरप्रदेश के बाढ़ और कोविड-19 से प्रभावित लोगों के लिए रेड क्रॉस की राहत सामग्री ले जा रहे नौ ट्रकों को रवाना किया । 

मौसम विभाग ने बताया कि उत्तराखंड, हिमाचल प्रदेश, उत्तरप्रदेश और बिहार में 26-28 जुलाई के बीच और पंजाब तथा हरियाणा में 27 से 29 जुलाई के बीच भारी बारिश का अनुमान है । बिहार में पश्चिम चंपारण, पूर्वी चंपारण, सीतामढ़ी, शिवहर, सुपौल, किशनगंज, दरभंगा, मुजफ्फरपुर, गोपालगंज और खगड़िया बाढ़ से प्रभावित है । मौसम विभाग ने कहा है कि सोमवार, मंगलवार और बुधवार को दिल्ली-एनसीआर समेत उत्तर भारत में बारिश का अनुमान है ।