असम पुलिस भर्ती घोटाले के सिलसिले में गिरफ्तार पुलिस अधिकारी कुमार संजीत कृष्णा को अदालत ने शुक्रवार के पांच दिन की पुलिस हिरासत में भेज दिया। असम के मुख्य सचिव कुमार संजय कृष्णा के भाई संजीत कृष्णा को कामरूप मेट्रो के मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट देवाशीष हजारिका की अदालत में पेश किया गया। 

अदालत ने मामले की आगे की जांच के लिए संजीत को पांच दिन की पुलिस हिरासत में भेज दिया। मामले में गिरफ्तार दो आरोपियों सूरज सरमा और रुबुल हजारिका को भी छह दिन की पुलिस हिरासत खत्म होने के बाद अदालत के समक्ष पेश किया गया। दोनों को अदालत ने पांच और दिन के लिए पुलिस हिरासत में भेज दिया। 

असम पुलिस सेवा (एएसपी) के अधिकारी संजीत कृष्णा को बृहस्पतिवार को अपराध अन्वेषण विभाग (सीआईडी) ने गत कुछ दिनों की लंबी पूछताछ के बाद गिरफ्तार किया था। असम में सामने आए इस घोटाले के सिलसिले में संजीत सबसे वरिष्ठ अधिकारी हैं जिन्हें गिरफ्तार किया गया है। आरोप है कि पुलिस में उपनिरीक्षक पद की भर्ती का पर्चा लीक होने में करीमगंज के तत्कालीन पुलिस अधीक्षक संजीत कृष्णा की भी भूमिका थी।