असम में बाढ़ की स्थिति और बिगड़ती जा रही है क्योंकि एक और व्यक्ति की मौत हो गई। ताजा मौत के साथ, असम में आई बाढ़ की इस पहली लहर में मरने वालों की संख्या तीन हो गई है। असम राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (एएसडीएमए) ने कहा कि मोरीगांव जिले के भूरागांव सर्कल में एक बच्चा डूब गया। इस बीच, राज्य के 18 जिलों में बाढ़ से लगभग 5.74 लाख लोग प्रभावित हुए हैं।

नलबाड़ी जिला सबसे अधिक प्रभावित जिला है, जिसमें 1.1 लाख से अधिक लोग प्रभावित हैं, इसके बाद दरांग में 1.09 लाख से अधिक लोग और लखीमपुर में 1.08 लाख से अधिक लोग हैं। ASDMA ने कहा कि वर्तमान में असम के 18 जिलों के 1278 गांव बाढ़ के पानी की चपेट में हैं। इसके अलावा, बाढ़ की पहली लहर में असम भर में कुल 39,831.91 हेक्टेयर कृषि भूमि क्षतिग्रस्त हो गई है।

इस बीच, असम के 14 जिलों में सरकार द्वारा 105 राहत शिविर और वितरण केंद्र स्थापित किए गए हैं। सरकार द्वारा स्थापित 105 राहत शिविरों में 680 बच्चों सहित 4000 से अधिक लोगों ने शरण ली है। बाढ़ के अलावा, बक्सा, विश्वनाथ, बोंगाईगांव, डिब्रूगढ़, कामरूप और कोकराझार जिलों में भी बड़े पैमाने पर कटाव देखा गया है, जबकि शिवसागर, बारपेटा, कछार, गोलाघाट, माजुली, मोरीगांव, नगांव और लखीमपुर में बाढ़ के पानी से तटबंध, सड़क, पुल और अन्य बुनियादी ढांचे को नुकसान पहुंचा है।