असम पुलिस ने एक ऐसे युवक को हिरासत में लिया है, जिसने सोशल मीडिया पर पोस्ट कर यूनाइटेड लिबरेशन फ्रंट ऑफ असम (उल्फा-आई) में शामिल होने की इच्छा व्यक्त की थी। 

ये भी पढ़ेंः जंगली हाथियों के झुंड ने 28 वर्षीय एक व्यक्ति को कुचल कर मार डाला


अपनी टाइमलाइन पर बप्पा कुमार ने उस पोस्ट को शेयर किया था, जिसमें कहा गया था कि असम में बड़ी संख्या में युवा उग्रवादी संगठन में शामिल हो रहे हैं और उन्होंने एक कैप्शन लिखा,अच्छा काम, मैं पढ़ने के लिए plzzzz का पता देता हूं...। कछार एसपी रमनदीप कौर ने सोमवार को बताया कि सिलचर के इटखोला इलाके के रहने वाले शख्स को गिरफ्तार कर न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है। बता दें कि बप्पा कुमार 12वीं पास है। 

ये भी पढ़ेंः USTM का IPSA सम्मेलन में असम के शिक्षा मंत्री डॉ. रनोज पेगू द्वारा समापन


पूछताछ के दौरान उसने उग्रवादी संगठन में शामिल होने में अपनी रुचि कबूल की। मामला अपराध के साथ-साथ यूएपीए अधिनियम, 1967 के तहत भी आता है। उसे न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है और हम आगे की जांच के लिए उसकी रिमांड मांगेंगे।