गुवाहाटी। असम पुलिस (Assam police) ने नगांव जिले में पिछले महीने एक पूर्व छात्र की हत्या मामले में दोषी पाए जाने के बाद उप निरीक्षक (SI) प्रदीप बनिया (Pradip Bania) को बर्खास्त कर दिया है। 

असम के मुख्यमंत्री हेमंत बिस्व सरमा (Assam Chief Minister Himanta Biswa Sarma) ने 23 जनवरी को मामले की जांच के लिए एक सदस्यीय जांच आयोग की घोषणा की थी। इसमें अतिरिक्त मुख्य सचिव पवन बोरठाकुर को शामिल किया गया था। असम सरकार की एक विज्ञप्ति में कहा गया है कि राज्य सरकार ने रिपोर्ट में दी गई सिफारिशों को स्वीकार कर लिया है और उनके आधार पर निर्देश जारी कर रही है।

गौरतलब है कि यह पहला मौका है जब हिमंत बिस्वा सरमा के नेतृत्व वाली भाजपा सरकार ने कथित अपराधियों के साथ मुठभेड़ को लेकर पुलिस अधिकारी के खिलाफ कार्रवाई की है। 

गौरतलब है कि ड्रग्स विरोधी अभियान (anti drug campaign) के दौरान 22 जनवरी को 22 वर्षीय कीर्ति कमल बोरा के पैर में पुलिस की गोली लगी थी और उसके सर में भी चोट थी। घटना को लेकर राज्य भर में हड़कंप मच गया था। पुलिस ने आरोप लगाया कि बोरा ड्रग रैकेट में शामिल था और उसने पुलिसकर्मियों पर हमला किया। वहीं, बोरा के परिवार ने इन आरोपों को गलत करार दिया था।